भारत के अंदर शुगर की बीमारी आम होती जा रही है लगभग हर घर में डायबिटीज का पेशेंट मिल जाता है ऐसे में डायबिटीज को मात्र दवाओं से काबू में करना थोड़ा मुश्किल काम होता है यहां तक कि एलोपैथी के डॉक्टर भी दवाइयों के साथ-साथ कसरत व अन्य प्रकार के चीजों के सेवन की सलाह देते हैं।

यह भी पढ़े : दुनिया के मशहूर “Meme’s king” ओशिता इहेमे की कहानी , जो आपको भी इंस्पायर कर देगी 

शुगर एक ऐसी बीमारी है जो अगर एक बार आपको हो जाए तो वह जिंदगी भर आपके साथ ही रहती हैं ऐसे में इस बीमारी को जड़ से खत्म करना तो बेहद मुश्किल है लेकिन अगर आप जहां जाए तो आप इस बीमारी को खुद से काबू में कर सकते हैं। अगर आप ने चाहा लिया तो आपकी शुगर कभी बढ़ेगी नहीं इसके लिए आपको अपने दिनचर्या में कुछ चीजें शामिल करनी होगी।

शुगर में लोगों को मीठी चीजें खाने की मनाही होती है जानकारों का कहना है कि खराब दिन चल रहे हो और अनुचित खानपान के चलते शुगर आम बीमारी बनती जा रही है खासकर भारत में शुगर काफी ज्यादा चर्चे बीमारी है हालांकि यह बीमारी लापरवाही बरतने पर काफी रौद्र रूप ले सकती है अगर आप भी डायबिटीज के मरीज हैं और ब्लड शुगर कंट्रोल करना चाहते हैं तो आप गुड़मार के सेवन से अपने डायबिटीज पर काबू पा सकते हैं।

यह भी पढ़े : दुनिया के मशहूर “Meme’s king” ओशिता इहेमे की कहानी , जो आपको भी इंस्पायर कर देगी 

आयुर्वेद में गुड़मार की पत्ती का इस्तेमाल सदियों से किया जा रहा है कई शोध में ऐसे खुलासे भी हुए हैं कि गुरुवार डायबिटीज के लिए रामबाण दवा है, गुड़मार के सेवन से तुरंत ब्लड शुगर कंट्रोल होने का दावा भी किया गया है हालांकि इसका कोई प्रमाण अभी तक मिला नहीं है।

तो चलिए जानते हैं कि कैसे आप गुड़मार के सेवन से अपनी डायबिटीज को कंट्रोल कर सकते हैं। लेकिन उससे पहले चलिए जानते हैं कि आखिर यह गुड़मार होता क्या है ?

यह भी पढ़े : दुनिया के मशहूर “Meme’s king” ओशिता इहेमे की कहानी , जो आपको भी इंस्पायर कर देगी 

क्या होता है गुड़मार ?

आयुर्वेद में गुड़मार को रामबाण इलाज बताया गया है खासकर शुगर में यानी डायबिटीज में गुड़ का सेवन आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों में दिया जाता है। यह भारत के मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ समेत कई राज्यों में पाया जाता है इतना ही नहीं भारत के अलावा ऑस्ट्रेलिया अफ्रीका और चाइना में भी गोलमाल आसानी से मिल जाता है।

इसका नाम गुड़मार या नहीं मिठाई खत्म करने वाले के नाम पर रखा गया है यह शब्द दो शब्दों से मिलकर बना है पहला गुड़ जोकि आज से कई वक्त पहले से मीठे का सोत्र माना जाता है सबके घर में अक्सर देखने को मिल जाता है वही दूसरा शब्द है मार, इसका अर्थ आप बखूबी समझ चुके होंगे।

यह भी पढ़े : दुनिया के मशहूर “Meme’s king” ओशिता इहेमे की कहानी , जो आपको भी इंस्पायर कर देगी 

गुड़मार के पत्ते कई औषधीय गुणों से भरपूर होते हैं जो इंस्टेंट शुगर कंट्रोल यानी शुगर को कम करने में सहयोग देते हैं गुड़मार के पत्ते तने और जड़ का आयुर्वेद यूनानी और सिद्ध में दवा की तरह इस्तेमाल किया जाता है।

एक शोध रिसर्च गेट पर यह पाया गया है कि गुड़मार के पत्तों में एंटी डायबिटीज के गुण पाए जाते हैं यह ना केवल शुगर बल्कि कई अन्य बीमारियों में भी फायदेमंद साबित होता है।

यह भी पढ़े : दुनिया के मशहूर “Meme’s king” ओशिता इहेमे की कहानी , जो आपको भी इंस्पायर कर देगी 

कैसे करें इस्तेमाल ?

आयुर्वेद के जानकारों की मानें तो गुड़मार की पत्तियों का सेवन करने से 1 घंटे तक मिठास का स्वाद खत्म हो जाता है इसके लिए रोजाना खाली पेट गुड़मार की पत्तियों को चबाकर खाएं इसके बाद गिलास पानी पिए। इससे ना आपकी केवल शुगर कम होती है बल्कि दिनभर शुगर लेवल बढ़ता भी नहीं है।

यह भी पढ़े : दुनिया के मशहूर “Meme’s king” ओशिता इहेमे की कहानी , जो आपको भी इंस्पायर कर देगी 

Note : लिखा गया लेख केवल जानकारी के आधार पर ही लिखा गया है इन्हें किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशन की सलाह के तौर पर नहीं ले। किसी भी तरह की बीमारी या संक्रमण के लक्षण की स्थिति में डॉक्टर सही संपर्क करके किसी प्रकार का ट्रीटमेंट ले।

Follow Us