Social Media / Viral

ट्विटर ने अपनी साइट से हटाए ये शब्द, रेसिज्म को दे रहे थे बढ़ावा

आमेरिका में अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड की पुलिस हिरासत में मौत के बाद से अमेरिकी बैंक जी पी ने भी कई बदलाव किए हैं। अब ऐसी बड़ी कंपनियां भी ऐसे टर्म्स को रिप्लेस कर रही है जो नस्लबाद को संबोधित करती हैं।

अब माइक्रोब्लॉगिंग साइट ट्विटर भी ‛मास्टर’ ‛स्लेव’ और ‛ब्लैकलिस्ट’ जैसे शब्दों को रिप्लेस कर रही है।

ट्विटर अब  ‛Whitelist’ को ‛allowlist’ और ‛Master/ Slave’ जैसे शब्दों ‛leader/ Follower’ में रिप्लेस करेगी।

मास्टर को कोड का मेन वर्जन कहा जाता है जो स्लेव को कंट्रोल करते हैं। वहीं ‛ब्लैकलिस्ट’ का प्रयोग वहां होता है जहां किसी भी चीज को ऑटोमैटिकली रिजेक्ट कर दिया जाए।

ट्विटर के इंजीनियर डिवीजन ने गुरुवार को एक ट्वीट किया। जिसमें ‛Whitelist’ को ‛allowlist’ और ‛Master/ Slave’ जैसे शब्दों ‛leader/ Follower’ इन शब्दों के रिप्लेसमेंट पर काम चल रहा है।

इसके साथ ही Google ने भी अब गूगल के क्रोमियम वेब ब्राउज़र प्रोजेक्ट एंड एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम ने डेवलपर्स को ‛ब्लैकलिस्ट’ और ‛व्हाइटलिस्ट’ जैसे शब्दों के प्रयोग से बचने को कहा है।

सोशल साइट्स पर नफरत फैलाने वाले कंटेंट के खिलाफ अभियान चलाए जा रहे हैं। इसमें बड़ी कंपनियां फोर्ड, एडिडास, कोका कोला, यूनिलीवर और स्टारबाक्स भी शामिल है। अभियान का उद्देश्य केवल एक ही है कि सोशल नेटवर्क से नफरत फैलाने वाले कंटेंट को हटाना है।

 

Follow Us
Show More

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: