भारत

5 राफेल आज एयरबेस में होंगे शामिल, रक्षा मंत्री समारोह में पहुंचे 

the india rise rafale


फ्रांस से खरीदे गए 5 आधुनिक लड़ाकू विमान राफेल (Rafale) भारत आने के 43 दिन बाद आज विधिवत वायुसेना में शामिल हो जाएंगे। इस अवसर पर अंबाला एयरबेस पर कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। इस कर्यक्रम में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, फ्रांस की रक्षा मंत्री फ्लोरेंस पर्ली, CDS जनरल विपिन रावत, वायुसेना प्रमुख आर के एस भदौरिया और रक्षा सचिव अजय कुमार शिरकत करेंगे।

 

 

वायुसेना के प्रवक्ता ने कार्यक्रम को बल के इतिहास का बेहद महत्वपूर्ण मील का पत्थर करार करते हुए कहा “कार्यक्रम के दौरान राफेल विमान का औपचारिक आवरण किया जाएगा। इसके बाद पारंपरिक ‘सर्वधर्म पूजा’ की जाएगी और राफेल और तेजस विमान हवाई करतब दिखाएंगे।

 

ऐतिहासिक समारोह की पूरी तैयारी हो चुकी है। 10:30 पर एयर शो शुरू होगा। हवा में एक के बाद एक विमानों का प्रदर्शन होगा। ध्रुव हेलीकॉप्टर की सारंग टीम भी करतब दिखाएगी इससे पहले भी ध्रुव हेलीकॉप्टर की सारंग टीम अंबाला एयरबेस पर एयर शो कर चुकी है।

.

राफेल के साथ पहली बार स्वदेशी तेजस भी करतब दिखाएगा। तेजस विमान राफेल के तरह डेल्टा विंग है। इसके अलावा जगुआर और सुखोई -30 भी परफ़ॉर्म करेंगे।

 

 


यह भी जानें-

● राफेल विमानों का निर्माण फ्रांस की कंपनी दसॉल्ट एविएशन ने किया है।

● वायुसेना के प्रवक्ता विंग कमांडर इंद्रानील नंदी ने कहा कि राफेल विमानों के बल के 17वें स्क्वॉड्रन में शमिल करने से पहले उन्हें पानी की बौछार से सलामी की जाएगी।

● 29 जुलाई को पहली खेप के तहत 5 राफेल विमान भारत लाए गए।

● भारत ने लगभग 4 साल पहले फ्रांस से 59,000 करोड़ रुपए में 36 राफेल विमान खरीदने का सौदा किया था।

● राफेल 4.5 जनरेशन के दुनिया के बेहतरीन लड़ाकू विमानों में से एक है। यह दो इंजन वाला मल्टी रोल एयरक्राफ्ट है। यह ऐसा एयरक्राफ्ट है जो एक ही उड़ान में कई मिशन को अंजाम दिया जा सकता है।

● राफेल में मेटेओर मिसाइल लगी है। यह 150 किलोमीटर तक हवा से हवा में मार करने वाली दुनिया की घातक मिसाइलों में से एक है।

● इसमें स्कैल्प मिसाइल भी लगी है। जो हवा से जमीन पर मार करने के लिए 300 किलोमीटर तक दुश्मन के घर में घुसकर मार करने में सक्षम है।

● तीसरी मीका मिसाइल है यह भी हवा से हवा में वार करती है। 80 किलोमीटर तक कि इसकी रेंज है। जो हवा से जमीन पर 60 किलोमीटर तक हमला करती है।

● राफेल के रफ्तार 2,130 प्रतिघंटा है। यह रडार को चकमा देने में माहिर है। यह दुश्मन पर बाज की तरह नजरें रखता है।

● राफेल 60 सेकेंड में 60 हजार फीट की ऊंचाई तक जा सकता है।

● राफेल 24500 किलोग्राम तक का वजन ले जाने में भी सक्षम है।

● राफेल चीन के जे20 और पाकिस्तान के एफ16 से भी कहीं आगे है।

● भारतीय वायुसेना के मुताबिक विमान में फेरबदल भी किए गए हैं।

Follow Us

Related Articles

Back to top button

Adblock Detected

Please deactivate the Ad Blocker to visit this site.