भारत

31 अगस्त तक जमा करें किसान किसान क्रेडिट कार्ड का कर्ज नहीं तो देना होगा अधिक ब्याज

किसान क्रेडिट कार्ड यानी KCC धारकोंं को बैंक से लिए गए कृषि कर्ज वापस करने के लिए सरकार ने 31 अगस्त तक ही
पैसा जमा करने की मोहलत दी है।अगर KCC धारकों ने 31 अगस्त तक पैसे नहीं लौटाए तो उन्हें 4 की जगह 7 फीसदी
ब्याज देना पड़ेगा।

दोबारा बढ़ी कर्ज वापसी की आखिरी तारीख
कोरोना महामारी के कारण सरकार ने कर्ज वापसी की तारीख 31 मार्च से बढ़ाकर पहले 31 मई किया था। अब इसे
दोबारा बढ़ाकर 31 अगस्त तक कर दिया गया। इसका मतलब यह है कि किसान KCC कार्ड के ब्याज को सिर्फ 4 फीसदी
सालाना के पुराने रेट पर 31 अगस्त तक भुगतान कर सकते हैं।

कितना देना होगा ब्याज?
खेती-किसानी के लिए ब्याज दर वैसे तो 9 फीसदी है। लेकिन सरकार इसमें 2 प्रतिशत की सब्सिडी देती है। इस तरह यह
7 फीसदी पड़ता है। लेकिन समय पर लौटा देने पर 3 फीसदी और छूट मिल जाती है। इस तरह किसानों के लिए ब्याज
दर 4 फीसदी रह जाती है।

बिना गारंटी के मिलता है 1.5 लाख रुपए तक का लोन
KCC के जरिए किसानों को 1.6 लाख रुपये का लोन बिना गारंटी के दिया जाता है। वहीं 3 साल में किसान इसके जरिए
5 लाख रुपए तक का लोन ले सकते हैं। देश के 7 करोड़ से अधिक किसानों के पास किसान क्रेडिट कार्ड हैं। KCC की
सुविधा पशुपालन और मछलीपालन के लिए भी उपलब्ध कराई जाती है।

कैसे बनवाए किसान क्रेडिट कार्ड
पहला यह कि जो व्यक्ति अप्लीकेशन दे रहा है उसको किसान होने का प्रमाण देना होगा। जिसके लिए उसे खेती के
कागजात और उसकी कॉपी बैंक में जमा करनी होगी।
दूसरा आवेदक को अपने निवास प्रमाण पत्र की कॉपी जमा करनी होगी। तीसरा आवेदक को किसी और बैंक में लोन
बकाया नहीं है इसका शपथ पत्र बैंक में देना होगा।
सरकार ने बैंकों को निर्देश दिए हैं कि आवेदन के 15वें दिन तक यानी दो सप्ताह के अंदर KCC बन जाए।

Follow Us

Related Articles

Back to top button