प्रवर्तन निदेशालय (ई डी) ने आज शुक्रवार को मुंबई स्थित ऑफिस में सुशांत सिंह राजपूत की कथित गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती भाई शोविक चक्रवर्ती और पिता इंद्रजीत चक्रवर्ती से पूछताछ की है। परिवार सुबह 11:30 बजे ई डी के ऑफिस पहुंच गया था। केस के मनी लांड्रिंग से जुड़े मुद्दे पर पूछताछ चली थी।

sushant signh rajput death case

 

सिद्धार्थ पिठानी से होगी पूछताछ

जानकारी के मुताबिक रिया चक्रवर्ती  ने पूछताछ को टालने की पूरी कोशिश की उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट में लगी याचिका का फैसला आने तक उनसे बयान न लिए जाएं, लेकिन ईडी ने इस गुजारिश को ठुकरा दिया। इस केस से जुड़ी और भी जानकारी के लिए ईडी ने सुशांत की बिजनेस मैनेजर श्रुति मोदी को भी पूछताछ के लिए बुलाया था। इसके साथ ही सुशांत के दोस्त सिद्धार्थ पिठानी को 8 अगस्त को पूछताछ के लिए समन जारी किया है।

 

बिहार पुलिस ने सुप्रीम कोर्ट में दायर किया हलफनामा 

बिहार पुलिस का कहना है कि सुशांत के केस से बिहार में दर्ज किया जाना गलत नहीं है। पुलिस को जानकारी मिलते ही एफआईआर दर्ज करनी पड़ती है। बिहार पुलिस ने कहा कि मुंबई पुलिस ने उन्हें बिल्कुल सहयोग नहीं किया। जबकि इस केस के तार केवल मुंबई से नहीं बल्कि पूरे देश से जुड़े हैं।

बिहार पुलिस के इस हलफनामे में कहा गया है कि बिहार पुलिस जांच नहीं कर पा रही है इसलिए सीबीआई को केस सौपने की गुजारिश की गई थी। केस सीबीआई के हाथ में हैं इसलिए अब रिया चक्रवर्ती की याचिका की सुनवाई की जरूरत नहीं है।

 

एसपी विनय तिवारी शर्तों के साथ बिहार रवाना

शुक्रवार को एस पी विनय तिवारी को शर्तों के साथ क्वारंटाइन से मुक्त किया गया है। एसपी विनय तिवारी सुशांत के केस की जांच में बिहार से मुंबई आने पर उन्हें बीएमसी ने रविवार को जोगेश्वरी के गेस्ट हाउस में क्वारंटाइन कर दिया था। उनके हाथ पर क्वारंटाइन की सील भी लगाई गई थी।

 

बिहार के डीजीपी ने दी थी कार्रवाई करने की चेतावनी

डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने कहा था कि हमारे अधिकारी विनय तिवारी मुंबई पुलिस को सूचना देकर वहां गए थे। पटना के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने उनके वहां जाने की सूचना दी थी। पत्र लिखकर उनके ठहरने के लिए आईपीएस मेस व्यवस्था करने का अनुरोध किया था। बावजूद उन्हें जबरन क्वारंटीन किया गया। डीजीपी ने अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत मामले की जांच के लिए मुंबई गए प्रदेश के एक आईपीएस अधिकारी को लौटने की अनुमति नहीं दिए जाने पर गुरुवार को कानूनी कार्रवाई की चेतावनी दी थी।

 

विनय तिवारी का क्वारंटीन खत्म होने पर बिहार डीजीपी ने ट्वीट कर किया धन्यवाद

विनय तिवारी को क्वारंटीन से मुक्त किए जाने पर बिहार पुलिस के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने बीएमसी को धन्यवाद देते हुए ट्वीट कर कहा, ‘माननीय सर्वोच्च न्यायालय की टिप्पणी के बाद बिहार के पुलिस मुख्यालय ने BMC के आयुक्त को दुबारा पत्र लिखकर अपने IPS अधिकारी विनय तिवारी को मुक्त करने के लिए कल अनुरोध किया था जिसे स्वीकार करते हुए विनय को मुक्त किया गया है.वे आज शाम को पटना लौट रहे हैं.BMC को धन्यवाद।’

 

जांच के लिए मुंबई गई पटना पुलिस की टीम वापस लौटी

इस बीच, पटना पुलिस की चार सदस्यीय टीम शुक्रवार को वापस लौट आई। यह टीम एक सप्ताह से अधिक समय से मुंबई में डेरा डाले हुए थी और मामले की जांच कर रही थी। इस पर उन्होंने कुछ भी मीडिया से साझा करने से इनकार करते हुए कहा कि सब ठीक से हो गया। हमने अपने सीनियर अधिकारियों के निर्देशों के अनुसार अपनी जांच की। हमारे जो भी निष्कर्ष आए हैं, हम उन्हें साझा करेंगे।

Follow Us