Indinomics

17 सितम्बर से Zomato बंद कर देगी ऑनलाइन सेवाएं, जाने क्यों…

ऑनलाइन फूड डिलीवरी सर्विस कंपनी Zomato ने 17 सितंबर से अपनी ग्रॉसरी डिलीवरी सर्विस को बंद करने का फैसला किया है। कंपनी ने यह फैसला ऑर्डर पूरा करने में हो रही देरी, खराब ग्राहक अनुभव और बढ़ती प्रतिस्पर्धा को देखते हुए किया है। जहां कंपनी पिछड़ रही है, वहीं वितरण कारोबार में प्रतिस्पर्धियों को 15 मिनट का समय लग रहा है।

कंपनी ने कहा कि अगर वह ग्रोफर में निवेश करती है तो उसके बेहतर परिणाम होंगे। ऐसे में उन्होंने अपना किराना वितरण कारोबार छोड़ने का फैसला किया है। कंपनी ने अपने ग्रॉसरी पार्टनर्स को एक ईमेल में कहा, “Zomato अपने ग्राहकों को बेहतरीन सर्विस देने और हमारे बिजनेस पार्टनर्स को ग्रोथ के बेहतरीन मौके देने में विश्वास रखता है। हमें नहीं लगता कि मौजूदा मॉडल से हमारे ग्राहकों और बिजनेस पार्टनर्स को फायदा होगा। इसलिए हम हम 17 सितंबर, 2021 से अपनी किराना डिलीवरी सेवा बंद करना चाहते हैं।

इस पायलट प्रोजेक्ट की शुरुआत

एक प्रवक्ता ने जोमैटो को बताया, “हमने किराना वितरण पायलट प्रोजेक्ट को बंद करने का फैसला किया है।” अभी इसके प्लेटफॉर्म पर किसी भी तरह का किराना वितरण कारोबार शुरू करने की कोई योजना नहीं है। निर्माता इस बाजार में अच्छा प्रदर्शन करते हैं, 10 मिनट में डिलीवरी करते हैं। ऐसे में इस कंपनी में हमारा निवेश कंपनी के शेयरधारकों के लिए एक बढ़िया विकल्प होगा।

Zomato में ग्रोफर्स का 10% हिस्सा है

Zomato ने प्रायोगिक तौर पर कुछ शहरों में ग्रोसरी का वितरण शुरू किया था। कंपनी अपने प्रतिस्पर्धियों की तुलना में 45 मिनट के भीतर किराने का सामान पहुंचा रही थी। कंपनी ने जुलाई 2021 में इस सर्विस को लॉन्च किया था। Zomato ने ग्राफर्स में भी निवेश किया है। कंपनी में उनकी 10 फीसदी हिस्सेदारी है।

प्रतियोगी 10 मिनट में किराने का सामान पहुंचाते हैं

कोरोना ने भारत में ऑनलाइन किराना वितरण व्यवसाय को बढ़ावा दिया है। ग्राहक अब सुपरफास्ट डिलीवरी सेवाओं को स्वीकार कर रहे हैं जिसमें उन्हें 15-30 मिनट के भीतर डिलीवरी मिल रही है। कई कंपनियां 10 मिनट के अंदर यह सर्विस दे रही हैं। स्विगी, डंजो और ग्रोफर्स जैसी कंपनियां इस डिस्ट्रीब्यूशन बिजनेस में सबसे आगे हैं। रीडसर की एक रिपोर्ट के अनुसार, अगले 5 वर्षों में, तेजी से वितरण व्यवसाय 10-15 गुना बढ़ेगा और बाजार लगभग 5 बिलियन  डॉलर का होगा।

Follow Us
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
%d bloggers like this: