क्या आप चाहते हैं कि आप ज़िन्दगी में एक ऐसी नौकरी करें जो आपको समाज में इज्जत दिलाये और साथ ही साथ आपको एक ऐसा व्यक्ति बनाये जो अपनी समस्या को अपने दिमाग की क्षमता से ही हल कर सके? आज इस आर्टिकल में आपको हम यही बताएँगे कि लॉयर या वकील कैसे बने, कौनसी परीक्षाएँ देनी पड़ती है और उसकी तैयारी कैसे करें। तो चलिये अब बात करते है कि आप वकील कैसे बन सकते है?

ऐसे बनें वकील

हर किसी का सपना होता है कि वह एक बड़ा आदमी बने और जीवन में अपना नाम कमाए! अपने जीवन में, कोई इंजीनियर बनना चाहता है, कोई डॉक्टर बनना चाहता है, तो कुछ लोग अच्छे वकील बनने का सपना देखते हैं! जिसके लिए वे पढ़ाई भी करते हैं, और मेहनत भी करते हैं. इस competition वाले दौर में, एक अच्छे वकील का पद मिलना काफी मुश्किल है! हर युवा का सपना होता है एक अच्छा वकील बनना। हर साल, कई छात्र वकील बनने के लिए पढ़ाई करते हैं, जिनमें से केवल 20% छात्र ही सफलता प्राप्त कर पाते हैं.

वकील कौन होते है?

लॉयर/वकील कैसे बने इससे पहले यह जान लेते है कि वकील कौन होते है। लॉयर या वकील एक ऐसा प्रोफेशन है जो हमारे समाज में बहुत ही इज़्ज़तदार और अच्छी आमदनी वाला प्रोफेशन माना जाता है। अगर आप कभी भी कोई भी क़ानूनी दिक्कत झेल रहे हैं, जैसे कि डाइवोर्स की समस्या, चार्जस या फिर बिज़नेस का कोई क़ानूनी समस्या तो आप लॉयर के पास जाते हैं। भारत में वकील बनने के लिए कुछ जरूरतें होती है जैसे कि

  • बैचलर ऑफ़ लेजिस्लेटिव लॉ (एलएलबी) – अगर आप भारत में वकील/लॉयर बनना चाहते हैं तो आपको किसी लॉ कॉलेज या इंस्टिट्यूट से सबसे पहले एलएलबी करना होगा और उसके बाद ही आप लॉ प्रैक्टिस कर पाएंगे।
  • इंटर्नशिप- आपको अपने कोर्स में किताबी नॉलेज के अलावा प्रैक्टिकल अनुभव भी चाहिए होता है और इसी के लिए इंटर्नशिप करना आपके कोर्स में अनिवार्य होगा।
  • स्टेट बार काउंसिल के साथ नामांकन – एक बार जब आप अपना कोर्स खत्म कर लेते हैं तब आपको अपने आपको किसी भी राज्य बार काउंसिल में रजिस्टर करना होगा और उसके बाद ऑल इंडिया बार एग्जामिनेशन (एआईबीई) देना होगा जिसके बाद ही आप लॉ प्रैक्टिस कर सकते हैं।

वकील मुख्यतः दो प्रकार के होते है:

  • सरकारी वकील – सरकारी वकील एक गवर्नमेंट कर्मचारी होता है और इसलिए वो गवर्नमेंट के पेरोल पर होता है। इस जॉब का सबसे बड़ा बेनिफिट यह है कि आपके पास जॉब सिक्योरिटी होती है और आपको वो सारे फायदे मिलते हैं जो बाकी सरकारी कर्मचारियों को मिलते हैं।
  • प्राइवेट अधिवक्ता/एडवोकेट – प्राइवेट अधिवक्ता वो होता है जो सरकार के लिए काम नहीं करता है लेकिन या तो खुद प्रैक्टिस करता हैं या फिर किसी और कंपनी में शामिल होकर काम करता है। इस जॉब की सबसे बड़ी बात है कि इसमें काफी अच्छी इनकम होती है क्योंकि आप कंपनियों के लिए बड़े-बड़े केस लड़ेंगे तो आप एक बहुत बड़ी फीस भी कमाएंगे और साथ ही आपकी सैलरी भी बहुत ज़्यादा होगी।

वकील (Lawyer) कौन होते हैं और उनके क्या कार्य है?

एक वकील एक ऐसा व्यक्ति है जिसका पेशा अपने Customers के लिए मुकदमेबाजी करना है. परंपरागत रूप से, इसकी भूमिका अपने ग्राहकों की रक्षा करना, उनके हितों का दावा करना और अदालत में उनका प्रतिनिधित्व करना है. वकील अपने ग्राहकों को सलाह प्रदान करते हैं और कानूनी मामलों के लिए आवश्यक दस्तावेजों का मसौदा तैयार करते हैं.

कानूनी पेशा सबसे महत्वपूर्ण आत्मनिर्भर व्यवसायों में से एक है. इस पेशे में आने से, आप असहाय लोगों के पक्ष में खड़े होने में सक्षम होंगे, और आपके पास समाज में सभी के सामने खुद को प्रस्तुत करने का अवसर होगा. आप इस कानूनी पेशे में आ सकते हैं और एक सफल कैरियर का निर्माण कर सकते हैं. यदि आप वकील बनने के लिए कानून की पढ़ाई करना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको graduation पास करने के बाद किसी भी सरकारी या Private विश्वविद्यालय में Faculty of Law में दाखिला लेना होगा. यहां आपको तीन साल का LLB Hons. पूरा करना होगा. आइए जानते हैं कि एलएलबी क्या होता है?

Lawyer और Advocate में क्या अंतर है ?

लॉयर या Lawyer, वह होता है जिसके पास लॉ (law) की डिग्री होती है, जो कानून के क्षेत्र में प्रशिक्षित होता है और कानूनी मामलों पर सलाह और सहायता प्रदान करता है. आसान शब्दों में कहें तो एक बार आपने अपनी LLB course की पढाई पूर्ण कर दी तब आप एक lawyer बन जाते हैं. लेकिन अब तक आप एक advocate नहीं बने होते हैं.

LLB क्या है?

LLB एक कानून संबंधी कोर्स है, इसका फुल फॉर्म होता है Legum Baccalaureus है. इसे Bachelor of Law भी कहा जाता है. आप इसे ग्रेजुएशन के बाद कर सकते हैं. अगर आप कानून के बारे अधिक पढ़ना चाहते हैं और वकील बनाना चाहते हैं, तो LLB आपके लिए एक अच्छा विकल्प है!

LLB में कानून से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी विस्तार से दी जाती है. LLB की पढ़ाई करने के बाद आप या तो वकील बन सकते हैं या फिर आप जज भी बन सकते हैं.

1. बारहवीं कक्षा पूरी करें

सबसे पहले वकील बनने के लिए, आपको बारहवीं कक्षा पास करनी होगी. आप अपनी 12 वीं किसी भी Stream के साथ कर सकते हैं लेकिन अगर आप Arts के student हैं तो आपको कानून की शिक्षा प्राप्त करने में आसानी होगी. इसके बाद आपको किसी law college में Admission लेना होगा.

2. Entrance Exam दें

Law college में Admission के लिए, आपको यहां इन्टरव्यू तथा प्रवेश परीक्षा देनी होगी, इस प्रवेश परीक्षा का नाम है CLAT. भारत में, CLAT परीक्षा पूरे भारतीय स्तर पर बहुत Popular है, आप CLAT परीक्षा देने के बाद किसी भी Law college में Admission ले सकते हैं.

3. क़ानूनी पढाई के बाद Internship करें

कानून का पढ़ाई पूरा करने के बाद आपको एक Internship करना होगा. किसी भी तरह की व्यावहारिक ज्ञान के लिए Internship करना आवश्यक होता है. उसी तरह, आपको इसमें भी Internship करने की आवश्यकता है.

Internship के दौरान आपको Court के बारे में कई बातें सिखाई जाती हैं. इसमें कोर्ट की सुनवाई कैसे होती है, Drafting कैसे होती है, दो वकील आपस में मुकदमा कैसे लड़ते हैं, ये सारी बातें आपको इस दौरान सिखाई जाती हैं.

4. State Bar Council में दाखिला करवाएं

Internship के बाद, आपको State Bar Council में Admission लेना होगा. इसके बाद, आपको Council of India की एक परीक्षा पास करनी होगी.

इसे पास करने के बाद ही आपको Court में Practice करने का Certificate दिया जाता है. अब आप भारत में किसी भी कोर्ट में अभ्यास कर सकते हैं.

सरकारी वकील का सैलरी —

सरकारी वकील का पूरा जानकारी पाने के बाद सायद आपके मन में ये सवाल आ रहा होगा की आखिर एक सरकारी वकील का सैलरी कितना होता होगा !क्यू ही हमारा इंडिया में नोकरी से पहेले ही सैलरी के बारे में सोचते है स्टूडेंट !सोचना भी सही है क्यू की एक अच्छा-खासा सैलरी से ही हमारा लाइफ स्टायल बनता है !लेकिन कुछ स्टूडेंट सैलरी नहीं बल्कि आपका सपना को पूरा करना चाहता है !

एक सरकारी वकील का सैलरी सरकार से किया गया एक agreement है !हर केस का LLB का फिश सरकार से निर्धारित किया गया है !आपको समझाने से कहे तो एक सरकारी वकील का सैलरी 14,000 se 25,000तक हो सकता है !और आपका अनुभव का हिसाब से सैलरी बरता ही रहेता है !


आप अगर किसी का हुआ केस को जीता देते है तो वो आपको खुस होकर कितना भी पैसा आपको दे सकता है उसका कोए सीमा नहीं !इसलिए सरकारी वकील का सैलरी अच्छा-खासा हो जाता है !इसमे आपको सैलरी का कोए टेंशन नहीं होता है !लेकिन इसके लिए आपको अपने आप को बहुत ही काबिल बनाना होगा !तभी आप महीने में कितना कम सकते है इसका कोए हिसाब नहीं है !

Follow Us