Government Policies

क्‍या है प्रधानमंत्री मुद्रा योजना, जानें किसे मिलेगा लाभ 

केंद्र सरकार ने छोटे उद्यम शुरू करने के लिए प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (पीएमएमवाई) शुरू की है. इसके तहत लोगों को अपना कारोबार शुरू करने के लिए छोटी रकम का लोन दिया जाता है. यह योजना अप्रैल 2015 में शुरू हुई थी.

मुद्रा योजना के दो मुख्‍य मकसद हैं. पहला, स्वरोजगार के लिए आसानी से लोन देना. दूसरा, छोटे उद्यमों के जरिये रोजगार का सृजन करना. मुद्रा योजना के तहत तीन तरह के लोन दिए जाते हैं. इनमें शिशु लोन, किशोर लोन और तरुण लोन शामिल हैं.

शिशु मुद्रा लोन के तहत 50,000 रुपये तक के कर्ज दिए जाते हैं. वहीं, किशोर मुद्रा लोन के तहत 50,000 से 5 लाख रुपये तक का कर्ज दिया जाता है. तरुण मुद्रा लोन के तहत 5 लाख से 10 लाख रुपये तक का कर्ज लिया जा सकता है.

यह भी पढ़ें : क्या है उत्तर प्रदेश जनसुनवाई पोर्टल ? क्या है इसका उद्देश्य ?

 केंद्र सरकार ने मुद्रा लोन के तहत 50 हजार रुपये तक के लोन लेने वाले लाभार्थियों को ब्याज दर में 2 फीसद की छूट पाने को मंजूरी दे दी है. शिशु योजना के तहत 9 करोड़ 35 लाख लोगों को इस फैसले से राहत मिलेगी. यह 1 जून 2020 से प्रभावी है और 31 मई 2021 तक जारी रहेगी. हालांकि मुद्रा लोन में शिशु लोन के अलावा 2 कटेगिरी और है. किशोर लोन और तरुण लोन. इसके तहत 50 हजार से 5 लाख और 5 लाख से 10 लाख रुपये तक का लोन सरकार कारोबार शुरू करने के लिए देती है. आप भी जानना चाहेंगे कि मुद्रा लोन कैसे मिल सकता है. हम इसके बारे में यहां जानकारी दे रहे हैं.

कौन ले सकता है PMMY के तहत लोन

कोई भी भारतीय नागरिक जो अपना कारोबार शुरू करना चाहता है, वह PMMY के तहत लोन ले सकता है. अगर आप मौजूदा कारोबार को आगे बढ़ाना चाहते हैं और उसके लिए पैसे की जरूरत है तो आप प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत 10 लाख रुपये तक के लोन के लिए आवेदन कर सकते हैं. यह योजना अप्रैल 2015 में शुरू हुई थी.

3 तरह के लोन

शिशु लोन : शिशु लोन के तहत 50,000 रुपये तक के लोन दिए जाते हैं.

किशोर लोन: किशोर लोन के तहत 50,000 से 5 लाख रुपये तक के लोन दिए जाते हैं.

तरुण लोन: तरुण लोन के तहत 5 लाख से 10 लाख रुपये तक के लोन दिए जाते हैं.

कैसे ले सकते हैं PMMY लोन

मुद्रा योजना (PMMY) के तहत लोन के लिए आपको सरकारी या बैंक की शाखा में आवेदन देना होगा. अगर आप खुद का कारोबार शुरू करना चाहते हैं तो आपको मकान के मालिकाना हक या किराये के दस्तावेज, काम से जुड़ी जानकारी, आधार, पैन नंबर सहित कई अन्य दस्तावेज देने होंगे. मुद्रा योजना की वेबसाइट पर उन सभी बैंकों की डिटेल मिल जाएगी, जिसमें ये लोन दिए जा रहे हैं. फॉर्म आनलाइन भी डाउनलोड किया जा सकता है.

स्टेप टू स्टेप

https://www.mudra.org.in/ वेबसाइट पर लोन एप्लीकेशन फॉर्म डाउनलोड करें.

शिशु लोन के लिए फॉर्म अलग है, जबकि तरुण और किशोर लोन के लिए फॉर्म एक ही है.

लोन एप्लीकेशन फॉर्म में सारी जानकारियां भरें.

सही मोबाइल नंबर, आधार नंबर, नाम, पता आदि की जानकारी दें.

बिजनेस कहां शुरू करना चाहते हैं, जानकारी दें.

OBC, SC / ST श्रेणियों के तहत आने वाले आवेदकों को जाति प्रमाण पत्र प्रदान करना होगा.

2 पासपोर्ट फोटो लगाएं.

फॉर्म भरने के बाद किसी भी सार्वजनिक या प्राइवेट बैंक में जाएं और सभी प्रक्रियाओं को पूरा करें.

सारे डॉक्यूमेंट जमा करें.

बैंक का ब्रांच मैनेजर आपसे कामकाज से बारे में जानकारी लेता है. उस आधार पर आपको PMMY लोन मंजूर करता है.

जरूरी डॉक्युमेंट्स

पहचान प्रमाण पत्र

आवास प्रमाण

मशीनरी आदि की जानकारी

पासपोर्ट साइज फोटो

बिजनेस प्रमाण पत्र

बिजनसे पते का प्रमाण

व्यापार के प्रकार

सेल्फ-प्रोपराइटर

पार्टनरशिप

सर्विस सेक्टर की कंपनियां

माइक्रो उद्योग

मरम्मत की दुकानें

ट्रकों के मालिक

खाने से संबंधितव्यवसाय

विक्रेता (फल और सब्जियां)

माइक्रो मैन्युफैक्चरिंग फर्म्स

क्या हैं ब्याज दरें?

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के अलग अलग बैंक में ब्याज दरें अलग अलग हो सकती हैं. अलग अलग बैंक मुद्रा लोन के लिए अलग ब्याज दर वसूल सकते हैं. लोन लेने वाले के कारोबार की प्रकृति और उससे जुड़े जोखिम के आधार पर भी ब्याज दर निर्भर करती है. आम तौर पर न्यूनतम ब्याज दर 12 फीसदी है.

Follow Us
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button