Education

MS क्या है, कैसे करें यह कोर्स 

MS का पूरा नाम Master of Surgery है. Master of Surgery एक Postgraduate Academic Course है. Surgery Therapy विज्ञान की एक शाखा है जो Operative प्रक्रियाओं से बीमारी या चोट का इलाज करती है. Surgery Course में Master की अवधि 3 साल है जो परीक्षा की अवधि सहित 6 Semester में प्रदान की जाती है. यदि एक छात्र ने एक ही विषय में एक मान्यता प्राप्त दो साल के Postgraduate Diploma Course पूरा कर लिया है तो परीक्षा की अवधि सहित प्रशिक्षण की अवधि 2 वर्ष होगी. उम्मीदवारों को अपने प्रवेश की तारीख के 5 साल के भीतर परीक्षा में Qualification प्राप्त करनी होगी.

हालांकि उम्मीदवार को किसी मान्यता प्राप्त Postgraduate विभाग में न्यूनतम 6 महीने की अवधि के अध्ययन और प्रशिक्षण की अगली अवधि से गुजरने की अनुमति दी जा सकती है जिसमें प्रत्येक मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया द्वारा अनुमोदित संस्थान में विशेष रूप से प्रत्येक 2 उपस्थिति तक दिखावे. उम्मीदवारों को अंतिम परीक्षा में 7 से अधिक प्रयासों के लिए उपस्थित होने की अनुमति नहीं दी जाएगी और यदि वे इस प्रावधान को पूरा करने में विफल रहते हैं तो उन्हें Courses से छुट्टी दी जाएगी.

यह भी पढ़ें : BAMS क्या है, कैसे करें यह कोर्स 

MS में शामिल उम्मीदवार Degree Course को Clinical Subjects और Junior Demonstrators में Basic Clinical Subjects में Junior Resident कहा जाता है. Surgical Residents को Surgery के सिद्धांतों में प्रशिक्षित किया जाता है और पर्यवेक्षण के तहत काम करता है.

एम.एस का क्या मतलब होता है?

एम.एस को विज्ञान का मास्टर कहा जाता है, हिंदी में इसे सर्जरी का मास्टर कहा जाता है | यह डिग्री सर्जरी के क्षेत्र में एक सम्मानित स्नातकोत्तर डिग्री है | इस डिग्री को दवा में स्नातक करने के बाद स्नातकोत्तर के रूप में किया जा सकता है | एम.एस एक तीन वर्षीय कोर्स है | इस पूरे कोर्स को 6 सेमेस्टर में विभाजित किया गया है | अगर किसी छात्र के द्वारा किसी भी विषय में स्नातकोत्तर पहले से ही किया गया है, तो उस छात्र को एम.एस कोर्स की अवधि केवल दो वर्ष ही करनी होगी | यदि छात्र इसमें प्रवेश प्राप्त करता है तो उसे इस कोर्स को अधिकतम पांच वर्षों में पूरा करना होता है |

इस कोर्स में अभ्यर्थी को मान्यता प्राप्त स्नातकोत्तर विभाग में न्यूनतम 6 महीने की Study और Training करना होगा | इसे मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया द्वारा अनुमोदित संस्थान से ही किया जा सकता है, इसमें एक संस्थान में केवल दो लोग ही प्रवेश प्राप्त कर सकते है | अंतिम परीक्षा को सफल होने के लिए सात प्रयास ही प्रदान किये जाते है | यदि वह इसमें असफल नहीं रहते है, तो उन्हें आगे अवसर नहीं दिया जाता है |

एमएस करने की योगयता

मास्टर ऑफ सर्जरी post graduation का कोर्स है और डॉक्टरी की पढ़ाई करने के बाद यह सबसे महत्वपूर्ण कोर्स है। इस कोर्स में दाखिला लेने के लिए उम्मीदवारों के पास कुछ योग्यताओं की जरूरत होती है अब हम इन योग्यताओं के बारे में जानेंगे:

  • मास्टर सर्जरी कोर्स करने के लिए आपको किसी मान्यता प्राप्त मेडिकल कॉलेज और यूनिवर्सिटी से एमबीबीएस की डिग्री करनी होती है।
  • मास्टर सर्जरी कोर्स को करने के लिए आपको अपनी एमबीबीएस की डिग्री कम से कम 50% अंकों के साथ पास करनी होती है।
  • आरक्षित वर्ग जैसे कि हरिजन और आदिवासी वर्ग के छात्रों के लिए इस अंक में थोड़ी छूट दी गई है इन्हें 40% अंक लाने होते हैं।

M.S. Entrance Examinations

MS में प्रवेश लेने के लिए उम्मीदवार को कुछ Entrance Exam को पास करना होता है जैसे कि –

  • UP PGMEE
  • AIPGMEE
  • DUPGMET

MS Specialisations

यह डिग्री कोर्स अनुसंधान और सर्जरी के निम्नलिखित क्षेत्र मे प्रदान किया जाता है जिनके नाम आप नीचे देख सकते है.

  • Neurosurgery
  • Ophthalmology
  • General Surgery
  • Orthopedic Surgery
  • Urology and Many More

MS के बाद स्कोप करियर और नौकरी

MS करने के बाद छात्रों के पास रोजगार के बहुत से क्षेत्र होते है जैसे कि –

  • Health Centres
  • Hospitals
  • Laboratories
  • Polyclinics
  • Nursing Homes
  • Medical Colleges
  • Private Practice
  • Research Institutes
  • Medical Foundation/Trust
  • Non-Profit Organizations

MS के बाद जॉब प्रोफाइल

MS करने के बाद छात्रों के पास जॉब के बहुत से क्षेत्र होते है जैसे कि –

  • Researcher
  • Lab Technician
  • Neonatal Surgeon
  • Ophthalmologist
  • Orthopaedic Surgeon
  • Paediatric Surgeon
  • Vascular Surgeon
  • Urological Surgeons
  • Lecturer & Professor
  • Upper Gastro-Intestinal Surgeon
  • Plastic & Reconstructive Surgeon
Follow Us
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button