Career

क्या है D Pharma, जानें इस कोर्स के करने के फायदे 

D Pharma को Diploma in Pharmacy भी कहा जाता है। यह फार्मेसी विज्ञान का बहुत प्रचलित कोर्स है। D Pharma दवाओं की मैन्यूफैक्चरिंग, मार्केटिंग, दवाओं की क्वालिटी, स्टोरेज और डिस्ट्रीब्यूशन का विज्ञान है। आजकल हेल्थ केयर मार्किट में Pharmacy expert की काफी डिमांड है। D Pharma 2 वर्ष का कोर्स होता है।

यह भी पढ़ें : क्या है Biotech, यहां जानें पूरी जानकारी 

इस कोर्स के लिए आवश्यक योग्यता PCM या PCB बिषय से 12वीं पास है। D Pharmacy कोर्स के बाद आप फार्मासिस्ट के तौर पर आसांनी से जॉब पा सकते हैं। वर्तमान समय मे D Pharma Course के द्वारा Pharmacy Field में आकर्षक कैरियर बनाया जा सकता है। मार्किट में D Pharma Students की काफी डिमांड रहती है। इसमे एक या दो नही बहुत से कैरियर के विकल्प मौजूद हैं।

आज मेडिसिन के फील्ड में हर दिन नई से नई दवाओं की खोज हो रही है। इसी वजह से पिछले कुछ सालों से फार्मेसी एक्सपर्ट medicine रिसर्च और मेडिसिन बिजनेस में काफी अहम भूमिका निभा रहे हैं। सबसे अच्छी बात तो ये है कि Diploma in Pharmacy के बाद ही आप आसानी से रोजगार पा जाते हैं। 

फार्मेसी को तीन भागों में भाग किया गया है। जैसे:

• D Pharma (डिप्लोमा इन फार्मेसी)

• बी.फार्मा (बेचएल ऑफ फार्मेसी)

• एम.फार्मा (मास्टर ऑफ फार्मेसी)

D pharma के लिए योग्यताएँ

डी फार्मा करने के लिए आवेदक के पास निम्नलिखित योग्यताएं होनी चाहिए
1. आवेदक का 12 वीं पास होना पास होना अनिवार्य है
2. आवेदक का परिणाम 12वीं में 50% से कम (ST/SC के लिए 45%) नहीं होना चाहिए ।
3. यदि आवेदक का 12वी मे गणित वर्ग से पढ़ा हो या बायोलॉजी वर्ग आवेदन कर सकते हैं।

D pharma करने की प्रक्रिया 

डी फार्मा करने के लिए आपके पास दो तरीके हैं पहला कि आप यदि सरकारी कॉलेज से करना चाहते हैं से करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको एंट्रेंस एग्जाम देना पड़ता है एग्जाम देना पड़ता है तथा यदि आप आप प्राइवेट से करना चाहते हैं तो डायरेक्ट एडमिशन भी होता भी होता लेकिन इसके बाद भी कई ऐसे अच्छे प्राइवेट कॉलेज ऐसे हैं जो अपना खुद का इंतजाम कराते आते हैं और डी फार्मा के लिए एडमिशन करा सकते है। भारत मे D.pharma करने के लिए विभिन्न राज्य मे अलग अलग प्रवेश परीक्षा कराया जाता हैं। आईये जानते हैं यदि आप up मे रहते हैं तो प्रवेश परीक्षा कैसे होती हैं।

प्रवेश परीक्षा 

इस प्रवेश परीक्षा का नाम JEECUP हैं।
डी फार्मा करने के लिए होने वाला है यह प्रवेश परीक्षा ऑफलाइन होता है यह कुल 100 प्रश्नों का होता है तथा 400  पूर्णांक होता है प्रत्येक प्रश्न के सही उत्तर पर 4 अंक अंक 4 अंक अंक 4 अंक मिलते हैं तथा एक गलत होने पर नेगेटिव मार्किंग एक  अंक की होती है । आईये यह जानते हैं कि यह प्रश्न किस विषय में से पूछे जाते हैं।

1. Physics                                      
2. Chemesrty
3. Biology

पूछे जाने वाले 100 प्रश्न मे सबसे ज्यादा बायोलॉजी विषय से 50 प्रश्न आते है। और शेष 50 प्रश्न फिजिक्स और कैमस्ट्री से आते हैं।

अन्य प्रवेश प्रवेश परीक्षा-

1.  NEET
2. GPAT
3. UPSEE
4. JEE pharmacy
5. AIMEE

D pharma की फीस 

अब बात करे कि D फार्मा करने मे कुल फीस कितना लग जाता हैं। यह अलग अलग कॉलेज पर निर्भर करता है। यदि आप सरकारी कॉलेज से करते हैं तो वार्षिक फीस 10,000 से लेकर 30000 तक लगता हैं। वही यदि बात करे निजी (private) कॉलेज मे फीस 60- 80 हजार वार्षिक के बीच मे लगता हैं।

D pharma करने के फायदे 

अब बात आती हैं कि D pharma करने से फायदे क्या क्या होते आईये इसके फायदे के बारे मे जानते हैं। जो निम्न हैं-

1. D फार्मा करने के बाद आप खुद का मेडिकल स्टोर खोल सकते हैं।
2. Scientific officer बन सकते हैं।
3. सरकारी जॉब्स  के लिए आवेदन कर सकते हैं।
4. Pharmasist कंपनी मे जॉब्स पा सकते हैं
5. किसी क्लिनिक मे अच्छा जॉब कर सकते हैं।

D pharma के लिए बेस्ट कॉलेज

1. National Institute of pharmaceutical education and research Mohali

2. Institute of chemical technology
3. N I P E R Hydrabad
4. Manipal college of pharmaceutical science karnataka
5. N I P E R ahmadabad
6. JSS college of pharmacy
7. N I P E R  Guwahati
8. N I P E R Raebareli
9. N I P E R kolkata
10. Delhi Institute of pharmaceutical education and research New Delhi

यह भी पढ़ें : ITI क्या है, कैसे करें इसकी पढ़ाई 

जो बच्चे डी फार्मा करने की सोच रहे हैं वह इसे पूरा पढ़ें क्योंकि आज मैं आपको डी फार्मा के फायदे के बारे में बताऊंगा

  1. अगर आप 12वीं के बाद डी फार्मा का कोर्स करते हैं तो डी फार्मा करने के बाद ही आपको नौकरी मिल जाती है और इसकी संभावना भी दूसरे नौकरी के मुकाबले बहुत ज्यादा होती है।
  2. डी फार्मा करने के बाद आप अपना खुद का मेडिकल दुकान खोल सकते हैं जहां कि आप दवाइयों को बेच सकते हैं क्योंकि दवाइयों को बेचने के लिए आपके पास फार्मा का सर्टिफिकेट का होना बेहद जरूरी है इसके बिना आप दवाइयों को बेच नहीं सकते।
  3. डी फार्मा करने के बाद आप सिर्फ नौकरी ही नहीं बल्कि अपना खुद का व्यापार भी शुरू कर सकते हैं खुद का व्यापार शुरू करने के लिए आपको बस एक मेडिकल दुकान खोलने की आवश्यकता है जहां कि आप दवाइयों को बेचेंगे।
  4. डी फार्मा करने के बाद आप सरकारी निजी किसी भी प्रकार के हॉस्पिटल में आपको जॉब मिल सकती है और आज के समय में डी फार्मा वाले विद्यार्थी की मांग बहुत ज्यादा है और इसमें दूसरे जॉब के मुकाबले कंपटीशन भी कम है।
  5. डी फार्मा करने के बाद आप सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि विदेश में भी नौकरी कर सकते हैं विदेश में भी d-pharmacy वाले छात्र की बहुत अधिक मांग है।
  6. डी फार्मा करने के बाद आप जिस भी किसी जगह नौकरी करेंगे वहां आपको अच्छी वेतन भी मिलेगी।
  7. डी फार्मा करने के बहुत से फायदे हैं और इसका सबसे महत्वपूर्ण फायदा यह है कि आप जैसे ही डी फार्मा के कोर्स को पूरा कर लेते हैं तो इसके तुरंत बाद ही आपको नौकरी मिल जाती है और वह भी अच्छी वेतन के साथ।
  8. डी फार्मा के बाद आप अपने आगे की पढ़ाई को जारी रख कर भविष्य में रिसर्च के क्षेत्र में अपना करियर बना सकते हैं या एक शिक्षक के रूप में किसी कॉलेज या इंस्टिट्यूट में बच्चों को पढ़ा सकते हैं।

डी फार्मा करने के बाद क्या करें?

बहुत से छात्र ऐसे होते हैं जो D Pharma करने के बाद अपनी पढ़ाई को आगे जारी रखते हैं ताकि भविष्य में उसे और भी अच्छी नौकरी मिले ऐसे में आइए जानते हैं कि डी फार्मा करने के बाद आपके पास क्या क्या ऑप्शन है आगे की पढ़ाई करने के लिए।

  • D Pharma करने के बाद आप एम फार्मा कर सकते हैं यह 2 वर्ष का कोर्स होता है।
  • D Pharma करने के बाद आप फार्मा में पीएचडी भी कर सकते हैं और वहां अपनी रिसर्च को जारी रख सकते हैं।

आज के समय में एक अच्छी कोर्स की चयन करना बेहद जरूरी है अगर आप एक अच्छी कोर्स का चयन नहीं कर पाते हैं तो भविष्य में आपको एक अच्छी नौकरी मिलने में बहुत अधिक मुश्किलें आएंगी।

ऐसी स्थिति में डी फार्मा आपके लिए एक बेहतर कैरियर विकल्प साबित हो सकता है क्योंकि इसमें जॉब मिलने की संभावना बहुत अधिक होती है और डी फार्मा करने के तुरंत बाद ही आपको नौकरी मिल जाती है।

D Pharma करने का जो सबसे बड़ा लाभ है वह है खुद का व्यवसाय शुरू करना अगर आप नौकरी नहीं करना चाहते हैं तो आपके पास ऑप्शन है कि आप अपना खुद का व्यवसाय शुरू कर सकते हैं जैसे कि कोई मेडिकल स्टोर जहां आप दवाइयां बेचने का काम करेंगे और मेडिकल स्टोर की एक खासियत यह है कि आपको दवाइयां कम कीमत में मिलेंगी जिसे आप उसके दुगने कीमत में बेच सकते हैं।

Follow Us
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
%d bloggers like this: