Delhi

दिल्ली में अब नियमों का उलंघन करने पर हो सकता है 2000 तक का चालान

आप सरकार ने रोज 11000 चालान काटने का दिया लक्ष्य

 

दिल्ली :-  कोविड प्रोटोकाल का उल्लंघन करने वालों पर दिल्ली में आम आदमी पार्टी सरकार ने रोज 11 हजार चालान काटने का लक्ष्य तय किया है। सरकार का ऐसा मानना है कि कोविड प्रोटोकाल का पालन सख्ती से कराकर ही कोरोना का संक्रमण रोका जा सकता है। जिसके चलते दिल्ली के सभी जिलों ने चालान काटने की प्रक्रिया को तेज कर दिया है। करीब 13 हजार चालान को दो दिन के अंदर ही कटा गया हैं।

सभी जिलों को दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने रोज एक हजार चालान काटने का लक्ष्य दिया है। जिस पर  बाजार एसोसिशनों के लोगों ने भी नाराजगी जताई है। डीडीएमए ने कहा है कि दिल्ली में  लोग बिना मास्क के घूम रहे हैं।

शारीरिक दूरी का भी बाजारों में पालन नहीं किया जा रहा है। वह भी ऐसे समय में जब कोरोना वायरस की तीसरी लहर की आशंका बनी हुई है, इसलिए चालान काटने का लक्ष्य पूरा किया जाए।

डीडीएमए ने यह भी तय किया है कि कोरोना वायरस संक्रमण की कुल में 80 प्रतिशत जांच आरटीपीसीआर माध्यम से हो, जिससे कोरोना मरीजों की सही स्थिति सामने आ सके। वहीं कोरोना का एक भी संक्रमित मरीज सामने आने पर कम से कम उसके संपर्क में आए 30 लोगों की कांटेक्ट ट्रेसिंग की जाए।

दिल्ली में शारीरिक दूरी का नियम ना मानने वालो और मास्क नहीं लगाने वालों पर 2000 रुपये का चालान किया जाएगा है।  इसके बावजूद भी लोग कोरोना नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं।

खासकार बाजारों का हाल बेहाल है। दिल्ली में शारीरिक दूरी का नियम न मानने और मास्क न लगाने पर बाजारों को भी बंद करने की सख्ती भी की जा चुकी है। लाजपतनगर, सदर बाजार के साथ और दर्जन भर बाजारों को कोविड नियमों के उल्लंघन पर कुछ दिनों के लिए बंद किया जा चुका है।

कोविड प्रोटोकाल के उल्लंघन के चलते वसंत विहार एसडीएम ने सरोजनी नगर मार्केट के एक्सपोर्ट मार्केट को 18 जुलाई से अगला आदेश तक बंद करने के आदेश दिए थे।

मार्केट एसोसिएशन ने एसडीएम के आदेश का विरोध जताया है। मार्केट एसोसिएशन ने  नई दिल्ली एडीएम के साथ सोमवार को बैठक की लेकिन बैठक का कोई हल निकला। एसोसिएशन ने बाजार सील करने के विरोध में पूरी बाजार को बंद रखने का निर्णय लिया है।

ये भी पढ़े :- संसद सत्र का दूसरा दिन भी चढ़ा हंगामें की भेंट, लोकसभा 22 जुलाई तक के लिए स्थगित

Follow Us
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button