कोरोना कहर के बीच उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में गुरुवार को तड़के चार बजे से लगातार दो घंटे बारिश हुई। वहीं केदारनाथ धाम में आज भी बर्फबारी हुई है। जिस वजह से तापमान में कुछ गिरावट महसूस की गई। कुछ इलाकों में बादल छाए हैं तो कहीं बारिश हो रही है।

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड: ऑक्सीजन की कमी को देखते हुए उद्योगों में सप्लाई पर रोक 

मसूरी शहर में हल्की धूप खिली है। रुद्रप्रयाग जिले में हल्की बारिश हुई। टिहरी जिले में सुबह से बारिश हो रही है। हरिद्वार, लोहाघाट, रुद्रपुर में बादल छाए हैं। 

जसपुर, काशीपुर, भवाली, डीडीहाट, नैनीताल में रुक-रुक कर बारिश हो रही है। पिथौरागढ़  में लगातार बीते 24 घंटे से रुक-रुक कर बारिश हो रही है।

रामनगर में रात से रुक-रुक कर हो रही वर्षा के बाद खिली धूप से रोजेदारों को राहत मिली। रात की बारिश के बाद चंपावत में सुबह फिर हल्की बारिश हुई। बागेश्वर में रातभर बारिश हुई।

ऊंचाई वाले क्षेत्रों में भी रातभर रुक रुककर बर्फबारी होती रही
चमोली जिले में मंगलवार रात से शुरू हुई बारिश बुधवार को देर शाम तक होती रही, वहीं ऊंचाई वाले क्षेत्रों में भी रातभर रुक रुककर बर्फबारी होती रही। वहीं केदारनाथ, मद्महेश्वर, तुंगनाथ, चंद्रशिला समेत ऊंचाई वाले क्षेत्रों में हल्की बर्फबारी हुई।

बुधवार को बदरीनाथ, हेमकुंड साहिब के साथ ही फूलों की घाटी, रुद्रनाथ, लाल माटी, औली, गोरसों बुग्याल सहित नीती और माणा घाटियों में जमकर बर्फबारी हुई है। बदरीनाथ धाम में देवदर्शनी तक बर्फ जम गई है। बारिश और बर्फबारी होने से जिले में ठंड एक बार फिर लौट आई है।

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड: शिक्षकों व कर्मचारियों का पिछले माह का वेतन जारी 

केदारघाटी और निचले क्षेत्रों में बारिश हुई। इस बारिश से सूखने के कगार पर पहुंचे जलस्रोतों को नया जीवन मिलेगा साथ ही काश्तकारों के चेहरे खिल उठे हैं। बारिश से जमीन को नमी मिल गई है, जिससे सब्जी व फलोत्पादन अच्छा होने की उम्मीद है। अन्य ऊंचाई वाले क्षेत्रों में दिनभर में हल्की बर्फबारी होती रही, जिससे घाटी के गांवों में ठंड बढ़ गई है।

Follow Us