TourismUttarakhand

14 जुलाई से शुरू होने वाली कांवड़ यात्रा को लेकर प्रशासन ने जारी किए निर्देश…

देहरादून : 14 जुलाई से शुरू होने जा रही कांवड़ यात्रा(kanwar yatra) को लेकर उत्तराखंड प्रशासन (Uttarakhand Administration) ने निर्देश जारी किये है. जिसे हरिद्वार पहुंचने वाले कांवड़ियों जरुर पालन करना होगा. निर्देशों के अनुसार कांवड़ यात्रा के दौरान हर कांवडि़ये को अपना पहचान पत्र (आइडी) रखना अनिवार्य होगा। पहचान पत्र के बिना उन्हें यात्रा की अनुमति नहीं दी जाएगी। पुलिस मुख्यालय देहरादून में आयोजित अंतरराज्यीय समन्वय बैठक में इस बात पर सहमति बनी। इस दौरान यातायात, सुरक्षा के साथ ही हुड़दंग रोकने के लिए कई बिंदुओं पर सहमति बनी।

ये भी पढ़े :-  प्रयागराज: महाकुंभ मेले की तैयारियां तेज, संगम नगरी में दौड़ेगी मेट्रो

14 से इस तारीख तक जारी रहेगी कांवड़ यात्रा 

पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने जानकारी देते हुए बताया कि, ”कांवड़ यात्रा 14 से 26 जुलाई तक चलेगी। कोरोना संक्रमण के चलते पिछले दो साल से कांवड यात्रा प्रतिबंधित थी। इस बार चार करोड़ के करीब कांवडिय़ों के आने की संभावना है। यात्रा को ध्‍यान में रखते हुए कांवड़ क्षेत्र को 12 सुपर जोन, 31 जोन और 133 सेक्टर में विभाजित किया गया है, जिसमें करीब नौ से 10 हजार पुलिसकर्मी तैनात रहेंगे। ड्रोन, सीसीटीवी और इंटरनेट मीडिया मानिटरिंग को बढ़ाया जाएगा।” बैठक में उत्तर प्रदेश, दिल्ली, हरियाणा, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, राजस्थान, रेलवे सुरक्षा बल और अभिसूचना ब्यूरो के अधिकारियों ने प्रत्यक्ष व आनलाइन माध्यम से जुड़े.

ये भी पढ़े :- ऋषिकेश में कमरा बुकिंग के जरिये साइबर अपराधियों ने बैंक एकाउंट से उडाए लाखों रुपए

ये निर्देश किये गये जारी ….

अंतरराज्यीय बैरियर, चेक पोस्ट पर संयुक्त जांच होगी।

हरिद्वार से दिल्ली व मेरठ वापस जाने के लिए कांवडिय़ों के लिए हाईवे के बायीं ओर को उपयोग करने का निर्णय लिया गया है। साथ ही इस दौरान लगने वाले शिविर एवं भंडारे हाईवे के बायीं ओर ही मुख्य मार्ग से 15 फीट दूर लगाए जाएंगे।

कांवडिय़ों द्वारा सात फीट से ऊंची कांवड़ न बनाने, ट्रेन की छतों पर यात्रा न करने के लिए प्रचार प्रसार किया जाए। साथ ही मादक पदार्थों के सेवन न करने के लिए भी जागरूक किया जाएगा।

डीजे एवं शिविरों पर बजने वाले गानों की मानिटरिंग की जाए। कांवडिय़ों से अपील की जाएगी कि कोई ऐसा गीत न बजाएं, जिससे किसी की धार्मिक भावनाएं आहत हों।

कांवडिय़े जहां से आ रहे हैं वहां के संबंधित थाने में यात्रा के लिए जाने वाले कुल कांवडिय़ों की संख्या, वाहन नंबर, मोबाइल नंबर व ग्रुप लीडर का नाम और मोबाइल नंबर की सूचना दें। ताकि उन पर नजर रखी जा सके।

Follow Us
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
%d bloggers like this: