India Rise Special

क्या है सुकन्या समृद्धि योजना ? जानिए योजना के फायदे?

Sukanya Samriddhi Yojana : भारत देश में किसी के घर में बेटी का पैदा होना लक्ष्मी पैदा होना माना जाता है। बेटियों को घर की समृद्धि मारा जाता है। लेकिन अभी भी कई ऐसी जगहें हैं जहां पर बेटियों को उचित मान-सम्मान नहीं प्राप्त होता है। ऐसा इसलिए क्योंकि बेटी पैदा होने के बाद कई लोग हैं जो कि उसको बोझ की तरह देखते हैं। कई लोगों को वह भारी दहेज लगती है।

हर कोई अपनी बेटियों को सुखी और समृद्धि देखना चाहता है जिसके लिए वह उनके भविष्य के लिए निरंतर प्रयास करता है। इसी प्रकार भारत की बेटियों का भविष्य उज्जवल बनाने के लिए भारत की सरकार ने कई प्रयास किए हैं। इन्हीं में से एक प्रयास सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) के नाम से प्रचलित है। यह योजना भारत की सरकार द्वारा बेटियों के लिए खास तौर पर बनाई गई है। आज हम आपको इसे योजना के बारे में बताने जा रहे हैं ताकि हर कोई अपनी बेटियों के लिए इस योजना का पूर्ण रूप से लाभ उठा सकें और अपनी बेटियों का जीवन अधिक उज्जवल बना सके।

यह भी पढ़े : उत्तराखंड: मरीजों की जान बचाने के लिए 64 पुलिसकर्मी करेंगे प्लाज़्मा डोनेट 

क्या है सुकन्या समृद्धि योजना?

भारत में कई जगह है ऐसी है जहां बेटियों को अभी भी बोझ समझा जाता है और इसी वजह से उनका उचित तरीके से ख्याल नहीं रखा जाता है। बेटियों की मुख्य तौर पर शादी की चिंता रहती है। और कई लोग ऐसे भी हैं जो कि अपनी बेटियों को उचित संसाधन प्राप्त करवाना चाहते हैं ताकि वह भी समाज के साथ कंधे से कंधा मिलाकर आगे बढ़ सके। लोगों की इसी सोच को बढ़ावा देने और बेटियों को उचित संसाधन प्राप्त करवाने के लिए सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) की शुरुआत की गई।

भारत की सरकार ने सुकन्या समृद्धि योजना की शुरुआत 22 जनवरी 2015 को की थी। इस योजना का शुभारंभ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किया गया था। यह योजना भारत की पुरानी योजना जिसका नाम “बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ” (Beti Bachao Beti Padhao ) है के अंतर्गत संचालित की जाती है। यह भी योजना भारतीय डाकघर के द्वारा संचालित की जाती है।

बेटियों की शादी या फिर पढ़ाई के लिए एकमुश्त मदद पाने के लिए इस योजना का खूब लाभ उठाया जा सकता है। इस योजना के अंतर्गत बेटी के माता-पिता के द्वारा बेटी के भविष्य के लिए किसी भी राष्ट्रीय बैंक अथवा पोस्ट ऑफिस में बचत खाता खुलवाया जा सकता है।जो भी माता पिता अपनी बेटी की पढ़ाई या फिर शादी के लिए पैसे का प्रबंध करना चाहते हैं वह इस योजना के अंतर्गत बचत खाता खुलवा सकते हैं। इस योजना में निवेश करने के लिए बेटी की उम्र 10 साल से कम होनी चाहिए।

क्या है योजना के फायदे?

सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) के अंतर्गत माता पिता बेटी के लिए बचत खाता खुलवाते हैं। यह योजना सभी माता-पिता ओं को ध्यान में रखकर बनाई गई है और इसी वजह से इसके कई फायदे हैं –
1.इस खाते को मात्र ₹250 से खुलवा सकते हैं।
सुकन्या समृद्धि योजना के खाताधारक मातृत्व 250 के न्यूनतम निवेश से अपना बचत खाता खुलवा सकते हैं। क्योंकि है राशि भारत के कई लोग दे सकते हैं इसी वजह से यह योजना सभी के लिए सुगम हो जाती है।

2.अधिकतम खाता खोलने कि राशि 1.5 लाख ।
यदि आप अपनी बेटी के लिए अधिक रुपयों का निवेश करना चाहते हैं तो इस योजना के अंतर्गत आफ 1.5 लाख रुपए निवेश कर सकते हैं। इसका मतलब यह है कि खाता खुलवाने के लिए आप अधिकतम राशि डेढ़ लाख रुपए जमा कर सकते हैं।

  1. मिलता है उचित ब्याज दर ।
    भारत सरकार ने इस योजना के अंतर्गत सभी बेटियों के भलाई के लिए अच्छा ब्याज दर रखा है। इस योजना में निवेश करने के बाद यानी कि खाता खुलवाने के बाद इसकी ब्याज दर 7.6% है। इसी वजह से भविष्य में आगे चलकर खाताधारकों को बचत की एक मोटी रकम प्राप्त होती है।
  2. मात्रा 14 साल करना होता है निवेश।
    इस योजना के अंतर्गत माता-पिता ओं को 14 साल तक निवेश करना होता है जिसके बाद बेटी के 21 साल के होने पर बेटी को निवेश की मोटी रकम प्राप्त होती है। यह है माता पिता पर निर्भर करता है कि वह इस रकम को बेटी की शादी अथवा पढ़ाई किसी के ऊपर भी खर्च कर सकते हैं।
  3. मिल सकती 64 लाख तक की रकम।
    यदि आप इस योजना में अधिकतम राशि जमा करते हैं तो फिर मच्योरिटी होने पर यह योजना आपको 64 लाख रुपए तक की मोटी रकम प्रदान कर सकती है।
  4. टैक्स से मिलती है छूट।
    भारत सरकार द्वारा इस योजना को केंद्रीय तौर पर बेटियों की पूरी भलाई के लिए बनाया गया है। इसी वजह से इसमें एक बहुत बड़ा फायदा है।सुकन्या समृद्धि योजना के तहत निवेश में छूट दी जाती है। इसमें आयकर कानून की धारा 80C के तहत टैक्स में छूट दी जाती है।
  5. 18 साल की होने पर निकल सकते हैं राशि।
    यदि बेटी को 18 साल की उम्र होने के बाद किसी चीज की आवश्यकता होती है चाहे वो उसकी शादी के लिए हो या पढ़ाई के लिए तो वह इस निवेश में से 50% तक की राशि 18 साल की उम्र होने के बाद निकाल सकते हैं।

8.दो बेटियों को मिलेगा लाभ।
यदि आपके परिवार में दो बेटियां हैं तो फिर उस सुकन्या समृद्धि योजना का लाभ आपके परिवार की दोनों बेटियां उठा सकती हैं। लेकिन यदि आपके परिवार में 2 से अधिक बेटियां हैं तब भी मात्र दो ही बेटियों को इस योजना का लाभ मिलेगा। इस योजना में यदि बेटियां जुड़वा है तो फिर परिवार की तीन बेटियों को लाभ मिल सकता है। ऐसा इसलिए क्योंकि जुड़वा बेटियों की गिनती एक ही होगी लेकिन अच्छी बात यह है कि दोनों को लाभ अलग-अलग मिलेगा।

यह भी पढ़े : उत्तराखंड: मरीजों की जान बचाने के लिए 64 पुलिसकर्मी करेंगे प्लाज़्मा डोनेट 

कहां और कैसे खुलेगा खाता?

सुकन्या समृद्धि योजना खाता दरअसल उन परिवारों को ध्यान में रखकर शुरू किया गया है जो छोटी-छोटी बचत के जरिये बच्चे की शादी या उच्च शिक्षा के लिए रकम जमा करना चाहते हैं। सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत आप अपना बैंक अकाउंट किसी भी पोस्ट ऑफिस या फिर बैंक के कमर्शियल ब्रांच की अधिकृत शाखा में खोल सकते हैं। अगर आप भी इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं तो फिर आपको इसके लिए आवेदन करना होगा। यहां हम आपको आवेदन करने की पूरी प्रणाली बता रहे हैं –

  1. सर्वप्रथम योजना में आवेदन करने के लिए योजना के मुख्य कागजातों को जमा कर ले । यह कागजात हैं –

बच्ची का जन्म प्रमाण पत्र( Birth Certificate)

अभिभावक का पहचान पत्र ( Identity Card)

अभिभावक के पते का प्रमाण ( Address Proof)

2.सबसे पहले आपको इसमें आवेदनान करने के लिए इसका आवेदन फॉर्म डाउनलोड करना होगा। यह आवेदन पत्र आप ऑनलाइन डाउनलोड कर सकते हैं।

  1. इसके बाद आपको इस आवेदन पत्र को भरना होगा जिसमें आपसे आपकी जानकारी पूछी जाएगी।
  2. फॉर्म भरने के बाद अपने सभी आवश्यक दस्तावेज अपने भरे हुए फॉर्म के साथ अटैच कर दें।
  3. इसके बाद बैंक अथवा पोस्ट ऑफिस में जाकर अपने भरे हुए आवेदन पत्र और कागजातों को अपनी न्यूनतम राशि के साथ जमा कर दें। आप यहां पर न्यूनतम राशि ₹250 जमा कर सकते हैं और अधिकतम राशि ₹1.5 लाख जमा कर सकते हैं।
    इस प्रकार आप की आवेदन की प्रक्रिया पूर्ण हो जाएगी।

यह योजना बेटियों के लिए काफी ज्यादा फायदेमंद है इसीलिए अगर आप भी उस योजना का फायदा उठाना चाहते हैं तो जल्द से जल्द आवेदन करें।

Follow Us
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button