Success Story: मिलिए IPS लकी चौहान से, जिन्होंने लगातार पास की UPSC की परीक्षा


एक कहावत हैं अगर आप कुछ हासिल करना चाहते हैं तो उसके लिए जी-जान लगा दे। ऐसा करने से आपको सफल होने से कोई नहीं रोक सकता। कुछ ऐसी ही कहानी है आईपीएस अधिकारी लकी चौहान की। तो चलिए मिलते हैं लकी चौहान से।
लकी चौहान का जन्म उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर जिले के खुर्जा गांव में हुआ था। इनके पिता रोहताश सिंह चौहान पेशे से प्रॉपर्टी डीलर हैं। जबकि माता सुमन लता चौहान एक शिक्षिका हैं। लकी शुरू से ही पढ़ने में होनहार थी। उन्होंने 12वीं में साइंस को चुना। इसके बाद उन्होंने अंग्रेजी साहित्य और इतिहास में ग्रेजुएशन किया।
पढाई पूरी होन के बाद लुकी सहायक कल्याण प्रशासक के रूप में काम करना शुरू किया। लेकिन उनका सपना तो आईपीएस ऑफिसर बनने का था। इस दौरान वह नौकरी के साथ-साथ यूपीएससी परीक्षा की तैयारी भी शुरू कर दी थी। उसने तीन साल की कड़ी मेहनत के बाद उन्होंने साल 2012 में अखिल भारतीय रैंक 246 हासिल की और आईपीएस ऑफिसर बन गई।
Follow Us

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: