Gadgets & Technology

भारत में शॉर्ट-फॉर्म वीडियो ऐप टिक टॉक (TikTok) जल्द ही कर सकता है वापसी

भारत में जल्द ही टिकटॉक वापसी कर सकता है क्योंकि टिकटॉक (TikTok) की मूल कंपनी बाइटडांस ने अपने पेटेंट, डिजाइन और ट्रेड मार्क्स के महानियंत्रक के साथ शॉर्ट-फॉर्म वीडियो ऐप के लिए एक ट्रेडमार्क फाइल किया है। पिछले साल जून में भारत सरकार ने 59 चीनी पर भारत में बैन लगा दिया था टिकटॉक (TikTok) उन ऐप्स में से एक था।

टिकटॉक पर प्रतिबंध लगाने के तुरंत बाद, टिकटॉक (TikTok) ऐप को प्लेस्टोर ऐप से हटा लिया गया था और इसे भारतीय नेटवर्क की पहुंच खत्म हटा दिया गया था। टिकटॉक के बंद होने का फायदा उठाते हुए इंस्टाग्राम सहित दूसरे प्लेटफार्म्स ने टिकटॉक जैसे अनुभव को भारतीय यूजर्स के लिए इंटीग्रेट किया गया जो मूल रूप से टिकटॉक जैसा ही था।

6 जुलाई को बाइटडांस ने “TickTock” नाम के साथ टिकटॉक के लिए ट्रेडमार्क आवेदन को फाइल किया। टिकटॉक आवेदन को पहले ट्विटर पर टिपस्टर मुकुल शर्मा ने रिपोर्ट किया था, को ट्रेड मार्क नियमों, 2002 की चौथी अनुसूची की क्लास 42 के अंतर्गत फाइल किया गया था।

जो “वैज्ञानिक और तकनीकी सेवाओं और उससे संबंधित अनुसंधान और डिजाइन, औद्योगिक विश्लेषण और अनुसंधान सेवाएं, कंप्यूटर हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर का डिजाइन और विकास के लिए है।” जबकि बाइटडांस ने आधिकारिक तौर इस संबंध में पर कोई टिप्पणी नहीं की है।

भारतीय IT नियमों के अनुसार काम करेगी कंपनी

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, टिकटॉक को देश में वापस लाने के लिए बाइटडांस और सरकार के बीच बातचीत चल रही है। चीनी कंपनी बाइटडांस ने अधिकारियों को आश्वासन दिया कि वह नए आईटी नियमों का पालन करेगी।

नोडल और शिकायत अधिकारी नियुक्त करने के बाद भी हुई बैन

भारत में 2019 में ही बाइटडांस ने अपना मुख्य नोडल और शिकायत अधिकारी नियुक्त किया। यह ‘महत्वपूर्ण’ सोशल मीडिया इन्टर्मीडीएरीज़ के आईटी नियमों की मुख्य बिंदुओं में से एक है, जिनके देश में 50 लाख से ज्यादा यूजर्स हैं।

नोडल और शिकायत अधिकारी होने के बाद भी, चीन के साथ सीमा तनातनी के चलते देश की “संप्रभुता और अखंडता” को खतरे में डालने के लिए बाइटडांस के मालिकाना हक वाले टिकटॉक को पिछले साल बैन कर दिया गया था। बैन करने कुछ महीनों बाद ही बाइटडांस ने कथित तौर पर रिलायंस इंडस्ट्रीज के साथ देश में अपने व्यवसाय को दोबारा शुरू करने के लिए टिकटॉक में अपना निवेश के लिए बात भी की थी। लेकिन फिर से उसे भारत में नहीं प्रयोग किया जा सका।

दूसरे प्लेटफॉर्म ने उठाया टिकटॉक बैन होने का फायदा

देश में टिकटॉक प्रतिबंध के समय लगभग 20 करोड़ यूजर्स थे। उन यूजर्स को दोबारा अपने इंटीग्रेट ऑफरिंग्स रील्स और शॉर्ट्स के माध्यम से इंस्टाग्राम और यूट्यूब के साथ बहुत से दूसरे प्लेटफार्मों ने आकर्षित किया। देश में लॉकडाउन के बीच शॉर्ट-फॉर्म वीडियो ऐप्स की मांग लोगों के बीच बढ़ गई थी जिससे टिकटॉक के प्रतिबंध और पैसों के लालच से कुछ भारतीय ऐप, टिकटॉक के विकल्प के रूप में बाजार में उभरे।

बैटलग्राउंड मोबाइल इंडिया में वापस आया PUBG

PUBG मोबाइल इस महीने की शुरुआत में जिसे पिछले साल के 59 चीनी ऐप के साथ प्रतिबंध का एक हिस्सा था। भारत में बैटलग्राउंड मोबाइल इंडिया के रूप में pubg वापस आया।

Follow Us
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button