Corona VirusCOVID19Madhya Pradesh

राहतभरी खबर! Madhya Pradesh में 5 महीने बाद कोरोना से मौतें शून्य

Madhya Pradesh: राज्य में कोरोना का ग्राफ लगातार ढलान की ओर है । तीन दिन से शुक्रवार को भी दूसरी बार प्रदेश में कोविड से किसी मरीज की मौत नहीं हुई है।

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में इसके पहले बुधवार को एक भी संक्रमित मरीज की मौत नहीं हुई थी। बता दें राज्य में 5 महीने बाद यह सुखद आंकड़ा आया है। इसके पहले 5 मार्च को आखिरी बार मरीजों की मौत का आंकड़ा शून्य था।

इसके बाद इसमें इजाफा होने लगा था । मार्च के आखिर तक में मौत का अधिकतम आंकड़ा 13 तक पहुंच गया था। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी हेल्थ बुलेटिन के मुताबिक शुक्रवार को 78,898 सैंपल की जांच में 15 संक्रमित मिले हैं। इस तरह संक्रमण दर 0.01 प्रतिशत रही।

एक्टिव मरीजों की संख्या 235 हैं। इनमें 144 मरीज हॉस्पिटल में भर्ती हैं। हमीदिया अस्पताल के छाती व श्वास रोग विभाग के HOD डॉ. लोकेन्द्र दवे ने कहा कि उनके यहां हाल में स्वस्थ हुई एक नर्स करीब 35 दिन भर्ती थी। हालत काफी गंभीर थी, लेकिन कोविड को मात दे दी। अभी ICU भर्ती मरीज लंबे समय से हैं।

काटजू अस्पताल में भी शुरू हुआ फीवर क्लीनिक
हाल ही में शुरू हुए काटजू अस्पताल में भी शुक्रवार से कोरोना की जांच शुरू हो गई है। पहले दिन तीन लोग जांच कराने के लिए पहुंचे। इसके साथ ही भोपाल में 48 फीवर क्लीनिक हो गए हैं जहां पर कोविड की जांच और इलाज किया जाता है।

भोपाल के सैंपलिंग प्रभारी डॉ. केके अग्रवाल ने बताया कि हर दिन 6000 से 7000 के बीच जांचें पूरे शहर में की जा रही हैं। इनमें करीब डेढ़ हजार जाचें फीवर क्लिनिक में हो रही हैं। बाकी औचक सैंपल लेकर कोरोना की जांच कराई जा रही है।

केके अग्रवाल ने बताया कि स्टेशन, बस स्टैंड और चौराहों पर हर उम्र वर्ग के लोगों के औचक सैंपल लिए जा रहे हैं। हर दिन 10 से कम लोग संक्रमित मिल रहे हैं। मध्य प्रदेश में शनिवार को चार लाख लोगों को टीका लगाया जाएगा।

इसमें कोविशील्ड की दोनों, जबकि कोवैक्सीन की सिर्फ दूसरी डोज लगाई जाएगी। कोविन पोर्टल पर पहले से ऑनलाइन बुकिंग कराने वालों को ही टीका लगेगा। तीन बजे के बाद टीका बचने की स्थिति में बिना ऑनलाइन बुकिंग वालों को मौके पर पंजीयन कर टीका लगाया जाएगा।

भोपाल में कोवैक्सीन PHC गुनगा और एम्स में लगाई जाएगी। भोपाल में शनिवार को वैक्सीनेशन के लिए 19 केंद्र बनाए गए हैं। पीएचसी गुनगा और एम्स में कोवैक्सीन लगाई जाएगी।

यह भी पढ़ें: MP: विदिशा हादसे से गांव में फैला मातम, गूंज रही हैं चीखें, राहुल गांधी ने जताया दुख

 

Follow Us
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button