Spiritual

Raksha bandhan 2022 : 11 या 12 अगस्त कब मनाया जाएगा रक्षा बंधन?, जानें राखी बाँधने का शुभ मुहूर्त

बहनें अपने भाइयों के हाथ में उनकी लंबी दीर्घायु के लिए राखी बांधती है, तो वही उसके बदले

  • दोनों दिन बाँध सकते है राखी

रक्षाबंधन 2022: रक्षाबंधन का पर्व भाई-बहन के अटूट प्रेम को दर्शाता है। यह त्यौहार हर साल सावन मास की पूर्णिमा के दिन मनाया जाता है। इस दिन सभी बहनें अपने भाइयों के हाथ में उनकी लंबी दीर्घायु के लिए राखी बांधती है, तो वही उसके बदले भाई उनकी रक्षा के लिए वचन देते हैं।

2 दिन पूर्णिमा होने से लोगों के बीच में असमंजस पैदा हो गया है कि आखिर का राखी का त्यौहार कब मनाया जाए। राखी का त्यौहार मनाना किस दिन शुभ रहेगा और रक्षा सूत्र बांधने का उत्तम मुहूर्त क्या है।

फिर कोरोना संक्रमित हुईं प्रियंका गांधी, घर में हुईं आइसोलेट

हिंदू पंचांग के अनुसार सावन मास की पूर्णिमा तिथि 11 अगस्त को सुबह 10:38 पर प्रारंभ होगी जो कि 12 अगस्त को सुबह 7:05 तक रहेगी ऐसे में लोग दुविधा में हैं कि रक्षाबंधन का पर्व 11 अगस्त को मनाया जाए या 12 अगस्त को। ज्योतिषाचार्य के अनुसार 11 अगस्त को भद्रा काल की साया होने के कारण कुछ लोग रक्षाबंधन का पर्व 12 अगस्त को मनाएंगे। कहां जाता है कि भद्रा काल में रक्षा सूत्र बांधना अशुभ होता है। भद्रा काल में रक्षा सूत्रों से समस्याएं जीवन में आती है।

आपको बता दें कि 11 जून को भद्रा काल 10:38 से लेकर रात को 8:51 तक है। ऐसे में बहन ने भाई को भद्रा काल में राखी ना ही बन सकती हैं और ना ही रात में। इसलिए 12 अगस्त को ही रक्षाबंधन मनाना शुभ मान रहे हैं।

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार राखी बनवाते समय भाई कामुक पूरब दिशा और बहन का मुख पश्चिम दिशा में होना चाहिए। पहले बहने अपने भाई को रोली अक्षत का टीका लगाएं घी के दीपक से आरती उतारे उसके बाद मिष्ठान खिलाकर भाई के दाहिने हाथ पर कलाई बांधे।

Follow Us
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
%d bloggers like this: