Government Policies

Pradhanmantri Awas Yojna ने लोगों के खुद का घर होने का सपना किया साकार, जानें इससे जुडी कुछ ख़ास बातें

Pradhanmantri Awas Yojna कि शुरुवात ग्रामीण विकास मंत्रालय द्वारा की गई थी। इस योजना तहत ऐसे व्यक्ति जिनके पास कच्चा घर है उन लोगों को सरकारी सहायता से पक्का घर बनाने के लिए कुछ subsidy दी जाती है।

नई दिल्ली। Modi Government द्वारा जारी Pradhanmantri Awas Yojna कि शुरुवात ग्रामीण विकास मंत्रालय द्वारा की गई थी। इस योजना की शुरुवात केंद्र सरकार ने ऐसे लोगों को लाभ देने के लिए किया था जिनके पास खुद का कोई पक्का मकान नहीं है। योजना के अंतर्गत 2022 तक बुनियादी सुविधा युक्त पक्का आवास उपलब्ध कराने का लक्ष्य रखा गया है।

“सबके लिए घर” के उद्देश्य को पूरा करने हेतु सरकार ने 2022 तक 2.95 करोड़ आवासों का निर्माण करने का लक्ष्य तय किया है।। तो आइयें हम आपको बताते हैं इससे जुडी कुछ ख़ास बातें।

क्या है Pradhanmantri Awas Yojna:

इस योजना तहत ऐसे व्यक्ति जिनके पास कच्चा घर है उन लोगों को सरकारी सहायता से पक्का घर बनाने के लिए कुछ subsidy दी जाती है। इस योजना के तहत देश के PM नरेंद्र मोदी ने वर्ष 2022 तक देश के लगभग हर एक व्यक्ति के पास अपना एक पक्का मकान प्रदान करने का एक लक्ष्य साधा है।

इंदिरा आवास योजना (IAY) से बदला प्रधानमंत्री आवास योजना में (PMAY):

वैसे तो इस योजना के कार्यक्रम की शुरुवात वर्ष 1996 में ही हो गया था और यह योजना ग्रामीण क्षेत्रों में मकान संबंधी जरूरतों को पूरा कर ही रही थी। फिर भी वर्ष 2014 में समवर्ती मूल्यांकन और Comptroller and Auditor General of India (CAG) के बैठक के दौरान इस योजना की कमियों का पता चला था।

क्या थी कमियां:

इंदिरा आवास योजना (IAY) में लाभार्थियों के चयन प्रक्रिया में पारदर्शिता की कमी से लेकर मकान की कमी का निर्धारण ना कर पाना और तालमेल का अभाव पाया गया। जिसके बाद इस योजना में आई कमियों को दूर करने के लिए वर्ष 2016 में नाम बदलकर Pradhanmantri Awas Yojna में पुनर्गठित कर दिया गया।

क्या है इस योजना का उद्देस्य:

इस योजना के तहत केंद्र सरकार द्वारा सभी बेघर परिवारों और कच्चे मकान में रहने वाले परिवारों को वर्ष 2022 तक बुनियादी सुविधाओं से युक्त पक्का मकान उपलब्ध करने का उद्देस्य है। इस योजना के तहत लाभार्थियों के घरों आकार 20 sq mt से 25 sq mt तक हो गया है। साथ ही सहायता को मैदानी क्षेत्र पर ₹70,000 से बढ़ाकर ₹120000 (1.2 लाख ) में परिवर्तित कर दिया गया है।

वहीं, प्रवर्तीय राज्यों और आईएपी जिलों में इस सहायता को ₹75, 000 से बढ़ाकर ₹130000 कर दिया गया है। योजना के तहत लाभार्थी के घर को उत्तम बिजली, पानी, शौचालय, एलपीजी कनेक्शन की भी व्यवस्था अन्य स्रोतों से दी जाती है।

कैसे करें Apply:

इस योजना में Apply करने के लिए इक्षुक व्यक्ति को अपने ब्लॉक में जाना होगा। संबंधित अधिकारी से Pradhanmantri Awas Yojna आवेदन का फॉर्म मांग कर उसे पूर्ण रूप से भरकर वापस से अधिकारी को submit कर देना होगा।

Apply के लिए जरुरी दस्तावेज:

इस योजना में Apply करने की इक्षा रखने वाले व्यक्ति के पास Aadhar Card, Job Card और ग्राम सेवक सर्वे प्रपत्र की प्रमाणित फोटो कॉपी होनी चाहिए।

इसके साथ ही आवेदकर्ता के पास पटवारी द्वारा भूमि व सिंचाई साधन, आय व मकान का प्रमाण पत्र भी होना चाहिए। खतौनी नकल भूमि रहन होने पर बैंक डायरी की प्रति और समिति में KCC का प्रमाण पत्र होना भी जरुरी है।

चयनित होने की प्रक्रिया:

इस योजना का लाभ उठाने के लिए लाभार्थियों की सूची Socio Economic Census 2011 (SC 2011) के अनुसार बनाई गई है।

यह भी पढ़ें: एनएसयूटी ने ग्रुप बी और ग्रुप सी के पदों पर निकाली भारी भर्ती, जानें कैसे होगा आवेदन

Follow Us
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button