देश की राजधानी दिल्ली इस वक्त ऑक्सीजन की किल्लत से जूझ रही है हालांकि केंद्र सरकार द्वारा 480 टन की ऑक्सीजन सप्लाई ( Oxygen supply ) की गई है लेकिन दिल्ली को इस वक्त 700 टन ऑक्सीजन की आवश्यकता है इसके लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ओडिशा से ऑक्सीजन एअरलिफ्ट कराने ( Oxygen supply ) का फैसला लिया था जिसका काम शुरू हो चुका है मिली जानकारी की माने तो उड़ीसा दिल्ली के लिए रक्षक बन के सामने आया है राज्य के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने एक निजी समाचार चैनल से बातचीत के दौरान कहा कि दिल्ली में ऑक्सीजन की कमी नहीं होने देंगे दिल्ली के लोगों को हमारा वादा है कि ऑक्सीजन कमी से वहां कोई नहीं मरेगा।

यह भी पढ़ें : समीक्षा बैठक में सीएम योगी का निर्देश, छापामारी कर जीवनरक्षक दवाओं की कालाबाजारी रोकें 

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ओडिशा सरकार ने 22 अप्रैल को यानी गुरुवार के दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ बैठक की थी जिसके बाद दिल्ली को मेडिकल ऑक्सीजन भेजने का फैसला लिया गया साथ ही 23 अप्रैल यानी शुक्रवार को लिखित ऑर्डर जारी कर ओडिशा में ऑक्सीजन के इंडस्ट्रियल इस्तेमाल पर फिलहाल रोक लगा दी गई है।

यह भी पढ़ें : समीक्षा बैठक में सीएम योगी का निर्देश, छापामारी कर जीवनरक्षक दवाओं की कालाबाजारी रोकें 

वही उड़ीसा सरकार के प्रवक्ता मनसा मंगराज ने इस पूरे मामले में बताया कि दिल्ली को कल से ही बिल 20 टन के दो टैंकर भेजे जा चुके हैं 70 ऑक्सीजन बस कुछ घंटों में पहुंचने वाली है स्थिति सुधारने तक अब दिल्ली को रोज 100 टन ऑक्सीजन भेजी जाती रहेगी अगर ओर ऑक्सीजन की जरूरत पड़ी तो हम उसे भेजने में भी सक्षम है। ओडिशा सरकार के प्रवक्ता मंशा के अनुसार उनके पास अभी 500 टन ऑक्सीजन सुरक्षित है इसके अलावा रोजाना मेडिकल ऑक्सीजन का उत्पादन किया जा रहा है सभी तरह की इंडस्ट्रियल आपूर्ति को रोक दिया गया है जिससे ऑक्सीजन की खपत ज्यादा ना हो।

Follow Us