राजधानी लखनऊ के गांवों में भी कोरोना जैसे लक्षणों वाले मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। जांच व इलाज न होने से रोजाना कई लोगों की जान भी जा रही है। गांवों में न सैनिटाइजेशन हो रहा है न दवा का छिड़काव हो रहा है।

यह भी पढ़ें : सीएम योगी का सख्त आदेश, अस्पताल के बाहर ऑक्सीजन लगाए मरीज मिले तो डीएम व सीएमओ देंगे जवाब  

सरोजनीनगर के प्रतिनिधि के मुताबिक क्षेत्र के खंडे देव, किशनपुर कौड़िया, हमीरपुर, गोडवा, बंथरा, नारायणपुर, भटगांव, तेरावा, लतीफ नगर, बेती, भटगांव सहित दर्जनों गांवों में लोग बीमार हैं। पूर्व जिला पंचायत सदस्य राजेश सिंह ने बताया क्षेत्र में संक्रामक बीमारी से कई लोगों की मौत भी हो चुकी है।

गोसाईंगंज प्रतिनिधि के अनुसार क्षेत्र में लोग कोरोना जैसे लक्षण वाले बुखार व सांस लेने में तकलीफ का सामना करने से दम तोड़ दे रहे हैं। इसके बाद भी सैनिटाइजेशन नहीं हो रहा है। गोसाईंगंज के रहमत नगर में आधा दर्जन से अधिक मौतों के बाद भी ब्लॉक प्रशासन नहीं जागा तो एक व्यक्ति ने खुद दवा खरीदी ताकि गांव में छिड़काव कर सके।

यह भी पढ़ें ; यूपी: पिछले 24 घंटे में 32993 नए केस आए सामने, 265 लोगों की मौत 

हर रोज बढ़ रहे मौत के आंकड़े यूपी में कोरोना वायरस से मरने वालों की अब तक कुल संख्या 11,165 हो चुकी है। रविवार को कुल 208 की मौत हुई। इसमें लखनऊ में 14, प्रयागराज में 10, कानपुर नगर में 19, वाराणसी में 15, मेरठ में पांच, गौतमबुद्ध नगर में 11, गोरखपुर में तीन-तीन, गाजियाबाद में 10, बरेली में तीन, झांसी में पांच, मुरादाबाद में दो, आगरा में दो, सहारनपुर में सात, लखीमपुर खीरी में दो, जौनपुर में चार, बाराबंकी में दो, रायबरेली में चार, मथुरा में दो, शाहजहांपुर में चार, चंदौली में तीन, सुलतानपुर में दो, सोनभद्र में पांच, बुलंदशहर में दो, इटावा में चार, हरदोई में तीन, उन्नाव में 7, बस्ती में पांच, कुशीनगर में दो, जालौन में सात, मैनपुरी में दो, कन्नौज में दो, फतेहपुर में 9, पीलीभीत में 7, संत कबीर नगर में दो, बलरामपुर में दो, अंबेडकरनगर में तीन, हमीरपुर में चार लोगों की मौत हुई है।

Follow Us