कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों को देख दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने लॉकडाउन ( lockdown ) लगाने का फैसला लिया था जिससे संक्रमण की चेन तोड़ने में आसानी हो, लेकिन लॉकडाउन के बावजूद दिल्ली के आंकड़ों में कमी देखने को नहीं मिल रही है मेरी जानकारी की मानें तो दिल्ली में लॉकडाउन ( lockdown ) के चलते एक लाख से एक्टिव केस मौजूद है इस वजह से कोरोना टेस्टिंग बढ़ा दी गई है वहीं अगर कोरोना वायरस संक्रमण से मरने वालों की संख्या की बात करें तो कोरोना से मरने वालों की कुल संख्या 15 हजार के पार हो चुकी है.

 lockdown

यह भी पढ़े : छत्तीसगढ़: चिता पर शव रखने से पहले चलने लगीं महिला की सांसें, डॉक्टरों ने कर दिया था मृत घोषित  

दिल्ली में बन रहे रिकॉर्ड

दिल्ली में बीते दिन रिकॉर्ड 81,829 लोगों का कोरोना टेस्ट किया गया, जिसमें से 25,986 लोग संक्रमित मिले. यानी कि पॉजिटिविटी रेट 31.76 फीसदी रहा. हालांकि बीच में एक दिन दिल्ली में कोरोना टेस्टिंग में गिरावट दर्ज की गई थी. सोमवार को केवल 57,600 कोरोना टेस्ट हुए थे.

यह भी पढ़े : छत्तीसगढ़: चिता पर शव रखने से पहले चलने लगीं महिला की सांसें, डॉक्टरों ने कर दिया था मृत घोषित  

क्या बोले मुख्यमंत्री केजरीवाल ?

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कोरोना की लहर पहले से ज्यादा खतरनाक है. आईसीयू बेड की बहुत ज्यादा डिमांड है. दिल्ली सरकार ने अस्थाई आईसीयू वह ऑक्सीजन बेड बनाने की तैयारी शुरू कर दी है.

Follow Us