ख्वाजा मुईनुद्दीन चिश्ती भाषा विश्वविद्यालय कोरोना वायरस संक्रमण से जूझ रहे अपने स्टाफ के लिए एक अहम कदम उठाया है आपकी जानकारी के लिए बता दें कि भाषा यूनिवर्सिटी ने ऐलान करते हुए कहा कि उनका जो भी स्टाफ मेंबर कोरोना वायरस संक्रमण से जूझ रहा है उसके इलाज का खर्च यूनिवर्सिटी देगी।

यह भी पढ़े : गांव में जीविका बचाने के लिए मनरेगा बनेगा ग्रामीणों का सहारा

क्या बोले कुलपति

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि भाषा विश्व विद्यालय कर कुलपति प्रो. अनिल कुमार कहा कि इन कठिन परिस्थितियों में भाषा यूनिवर्सिटी अपने सभी शिक्षकों और कर्मचारियों के साथ है, उन्होंने बताया कि अगर यूनिवर्सिटी का कोई भी कर्मचारी या शिक्षक कोरोना वायरस के संक्रमण से जूझ रहा है तो उसका चिकित्सकीय खर्च विश्वविद्यालय द्वारा वहन किया जाएगा।

यह भी पढ़ें : लखनऊ: वसीम रिजवी  को मिली जान से मारने की धमकी, दर्ज हुआ मुकदमा  

ऑनलाइन ही चलेंगी विद्यार्थियों की क्लास

ख्वाजा मुईनुद्दीन चिश्ती भाषा विश्वविद्यालय के प्रशासन ने कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के चलते University 15 मई तक बंद रखने का निर्णय लिया है। विश्वविद्यालय की समस्त गतिविधियां ऑनलाइन होगी। क्लास भी ऑनलाइन ही चलती रहेंगी।

Follow Us