Gadgets & Technology

बदल गई है कहावत, अब रोटी कपड़ा और मकान के साथ जुड़ गया है  इंटरनेट, जानें नेट से जुड़ी जरुरी बातें

खाना, पीना जिस तरह हमारी लाइफ के लिए जरूरी है, वैसे ही अब  इंटरनेट भी हमारे लिए जरुरी हो गया है। आज की दुनिया की कल्पना बिना इंटरनेट के करना बहुत ही मुश्किल काम है। आज हमारे सभी काम लगभग लगभग इंटरनेट के बिना अधूरे हैं। छोटी से छोटी चीजों का इस्तेमाल करने के लिए हमे इंटरनेट का इस्तेमाल करना ही पड़ता हैं। क्या आप जानते है कि आखिर इंटरनेट कैसे चलता है?

 

अंडमान-चेन्नई OFC का हुआ उद्घाटन, समुद्री व्यापार में बढ़ेगी हिस्सेदारी

इंटरनेट काम कैसे करता है? 

आप सोच रहे होंगे हमारे ऊपर बादलों में कोई ऐसा सिस्टम लगा होगा, जिसके अंदर इंटरनेट के सारे डेटा स्टोर रहते हैं और इंटरनेट चलता है। लेकिन हम आपको बता दें कि ऐसा कुछ भी नहीं है और पहले यह हमारे द्वारा छोड़े गए उपग्रह से चलता था। जिसके कारण डाटा बहुत स्लो डाउनलोड होता था, लेकिन हमारे पास जो इन्टरनेट है वह एक तार के माध्यम से हम तक पहुंचता है, जिसे ऑप्टिकल फाइबर केबल कहा जाता है। इस केबल से इंटरनेट का 90% उपयोग होता है।

submrine ofc india rise news

समुद्र में बिछा है ऑप्टिकल फाइबर केबल का जाल

ऑप्टिकल फाइबर केबल पूरी दुनिया भर के समुद्र में बिछाए गई हैं, जिसकी सहायता से हम इंटरनेट का इस्तेमाल कर पाते हैं।  इसमें कम नुकसान और कम लागत आती है। लेकिन समुद्र में केवल बिछाने के कारण बड़े बड़े जहाज़ चलने के कारण कभी-कभी जहाज़ के लंगर से भी ऑप्टिकल फाइबर को नुकसान पहुंचता है। आज कई ऐसी टीम काम कर रही है जो 24 घंटे ऑप्टिकल फाइबर की निगरानी करती है। जब इसमें कोई नुकसान होता है तो उसको तुरंत ही ठीक कर किया जाता है।

how internet works

 

3 Tier में पहुँचता हैं इंटरनेट आपके पास

 इंटरनेट के लिए फाइबर केबल को पूरी दुनिया भर में बिछाने के लिए बड़ी-बड़ी कंपनियां पैसा लगाती हैं,  जिन्हे 3 Tier में बांट दिया गया है

 

submrine ofc how internet works india rise all you need to know

 

Tier1 पर वह कंपनियां आती हैं, जो फाइबर केबल को बिछाने के लिए पैसे देती है। 

Tier 2 नंबर पर छोटी छोटी कंपनियां आती हैं जो फाइबर केबल के माध्यम से ब्रॉडबैंड सुविधा मुहेया कराती हैं।

 Tier 3 पर नाम आता है ISP का जो हमारे घरों तक फाइबर केबल के माध्यम से इंटरनेट पहुंचाती हैं।

इंटरनेट की खोज किसने की

submrine ofc how internet works india rise all you need to know

सन 1957 में COLD WAR के समय, अमेरिका ने Advanced Research Projects Agency (ARPA) की स्थापना की जिसका उद्देश्य एक ऐसी Technology को बनाना था, जिससे की एक सेना को गुप्त संदेश दिया जा सकें। इसके बाद सन 1969 में इस Agency ने ARPANET की स्थापना की। जिससे किसी भी कंप्यूटर को किसी भी Computer से जोड़ा जा सकता था। सन 1980 तक आते-आते उसका नाम Internet हो गया। Vinton Cerf और Robert Kahn ने TCP/IP protocol को invent किया सन 1970s, और 1972 में, वहीँ Ray Tomlinson ने सबसे पहले Email Network को introduce किया।

भारत में कब आया इंटरनेट

विदेश संचार निगम लिमिटेड यह पहली कंपनी थी जिसने भारत में इंटरनेट को लाया, भारत में इंटरनेट की शुरुआत 14 अगस्त सन 1995 में हुई थी हालांकि इसे शुरू 15 अगस्त के दिन किया गया था।शुरुआती दौर में भारत में लगभग 20 से 30 से कंप्यूटर ही इंटरनेट से जुड़े हुए थे। शुरुआत के उस दौर में इंटरनेट की स्पीड भी बहुत ही कम थी। उस वक्त इंटरनेट की स्पीड 9 से 10 kbps थी

Follow Us
Show More

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: