अप्रैल में महंगाई दर 7.79 फीसदी पर सामान्य; आठ साल का उच्चतम


अप्रैल में खुदरा महंगाई सालाना आधार पर बढ़कर 7.79 फीसदी हो गई, जो आठ साल में सबसे ज्यादा है। खाद्य कीमतों में तेज वृद्धि ने खुदरा मुद्रास्फीति की दर को बढ़ा दिया और लगातार चौथे महीने यह रिजर्व बैंक द्वारा निर्धारित लक्ष्य से अधिक हो गया। उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई) पर आधारित महंगाई इस साल मार्च में 6.95 फीसदी और अप्रैल 2021 में 4.23 फीसदी थी। खाद्य मुद्रास्फीति अप्रैल में बढ़कर 8.38 प्रतिशत हो गई, जो पिछले महीने में 7.68 प्रतिशत थी और पिछले वर्ष के इसी महीने में 1.96 प्रतिशत थी।

Also read – देश के दौरे पर निकलेंगे कांग्रेस नेता राहुल गांधी, राजस्थान के इस शहर से होगी शुरुआत

सरकार ने भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) से यह सुनिश्चित करने के लिए कहा है कि मुद्रास्फीति 4 प्रतिशत पर बनी रहे, जिसमें 2 प्रतिशत का उतार-चढ़ाव हो सकता है। जनवरी 2022 से खुदरा मुद्रास्फीति 6 प्रतिशत से ऊपर रही है।

Also read – बॉलीवुड स्टार-किड्स की फिल्म “द आर्चीज”का टीजर हुआ जारी, जानिए कब रिलीज होगी मूवी ?

पिछले महीने रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) की अचानक हुई बैठक के बाद गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा था कि मौजूदा भू-राजनीतिक स्थिति का घरेलू बाजार पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ा है। आगे मुद्रास्फीति का दबाव बने रहने की संभावना है।

Follow Us

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: