Career

कैसे बनें टैटू आर्टिस्ट, जानें स्किल्स को कैसे करें डेवलप 

टैटू आर्ट नये दौर में युवाओं के फैशन स्टेटमेंट का हिस्सा बन चुका है। यूं तो शरीर पर कलात्मक आकृतियां उभारना पुरातन दौर में भी चलन में रहा है, लेकिन तब यह कहीं न कहीं परम्परा से जुड़ा हुआ था। लोग ईश्वर का नाम, उनका चित्र या कोई पारंपरिक धरोहर टैटू के जरिये शरीर पर गुदवाते थे, पर अब इसमें विषयों की भरमार है। इन दिनों टैटू आर्टिस्ट चलन में आने से इसमें करियर की संभावनाएं भी बढ़ी हैं। टैटू मेकिंग को व्यवसाय बनाने के लिए आप में कला से लगाव, धर्य और परफेक्शन होना पहली शर्त है, क्योंकि शरीर पर एक बार टैटू बनाने के बाद दोबारा इसमें सुधार की गुंजाइश कम ही बचती है।

कैसे करें शुरुआत
टैटू आर्टिस्ट बनने के लिए किसी बड़ी डिग्री या डिप्लोमा का होना बहुत जरूरी नहीं है। इसके लिए कई संस्थानों ने सामान्य ट्रेनिंग के जरिये टैटू मेकिंग सिखा कर लाइसेंस देना शुरू किया है। इसका लाइसेंस पाने के लिए एलायंस ऑफ प्रोफेशनल टैटूइस्ट्स (एपीटी) ने कुछ आधारभूत योग्यता मानक तय किए हैं। एक successful tattoo artist बनने के लिए designing का ज्ञान होना बहुत जरुरी है. इस क्षेत्र में आगे बढ़ने की कुंजी भी सधे हुए हाथों से किसी कल्पना को ज्यों का त्यों किसी शरीर पर उकेर देना है. यहाँ जरा-सी गलती आपकी साख को हानि पहुंचा सकती है.

क्या होता है काम

एक टैटू आर्टिस्ट का काम महज टैटू बनाना ही नहीं होता। वह सबसे पहले अपने क्लाइंट की जरूरत को समझता है और उसके अनुसार अपने क्लाइंट को कुछ बेहतरीन सुझाव देता है। अंत में वह टैटू बनाता है। इसके अलावा टैटू बनाने के बाद शुरूआत में स्किन की सही तरह से केयर करनी भी जरूरी होती है, इसलिए एक टैटू मेकर का काम है कि वह अपने क्लाइंट को स्किन केयर के बारे में भी सारी जानकारी दे ताकि उन्हें बाद में किसी तरह की परेशानी न उठानी पड़े। 

यह भी पढ़ें : क्या होता है समीक्षा अधिकारी, यहां जानें पूरी जानकारी 

स्किल्स

इस क्षेत्र की सबसे बड़ी जरूरत है आपका क्रिएटिव माइंड। आज के समय में पहले की तरह सिंपल टैटू नहीं बनाए जाते। इसलिए एक टैटू मेकर क्लाइंट की जरूरत को समझकर और अपनी क्रिएटिविटी का प्रयोग करके शरीर के विभिन्न हिस्सों पर अलग−अलग कलर कॉम्बीनेशन और केमिकल्स के जरिए बेहतरीन आकृति को उकेरता है। इतना ही नहीं, इस क्षेत्र में आपकी सफलता आपका पैशन तय करता है। अगर आप इस काम से दिल से प्यार करते हैं, तभी आपको इस क्षेत्र में कदम रखना चाहिए। इसके अतिरिक्त एक टैटू मेकर को हमेशा अपडेट रहना चाहिए। उसे लेटेस्ट ट्रेंड की जानकारी होनी चाहिए। एक टैटू बनाना देखने में भले ही आसान लगे लेकिन यह एक कठिन काम है। इसमें आपको बेहद पेशेंस और एकाग्रता की जरूरत होती है। कई बार लोगों को टैटू से त्वचा में संक्रमण भी फैल जाता है। इसलिए यह बेहद जरूरी है कि आप इससे भी अच्छी तरह वाकिफ हों और हर तरह की सावधानी बरतते हुए ही अपना काम करें। 

शैक्षिक योग्यता
यूं तो टैटू मेकिंग के लिए आपका कलात्मक क्षेत्र में माहिर होना ही काफी है, लेकिन शरीर से सीधे संबंधित कला होने के कारण आपको विज्ञान और स्टर्लाइजेशन का भी पूरा ज्ञान होना चाहिए। टैटू मेकिंग के लिए त्वचा की ऊपरी परत में स्याही द्वारा किसी डिजाइन को उकेरा जाता है। ऐसे में जरूरी है कि आप त्वचा संबंधी बीमारियों और संक्रमण के प्रति संवेदनशील हों।

टैटू आर्टिस्ट बनने के लिए जरूरी
एक सफल टैटू आर्टिस्ट बनने के लिए डिजाइनिंग का ज्ञान होना बहुत जरूरी है। इस क्षेत्र में आगे बढ़ने की कुंजी भी सधे हुए हाथों से किसी कल्पना को ज्यों का त्यों किसी बॉडी पर उकेर देना है। यहां जरा-सी गलती आपकी साख को हानि पहुंचा सकती है। अगर आप भी क्रिएटिव फील्ड में हाथ आजमाना चाहते है तो टैटू आर्टिस्ट बनकर आप भी नाम दाम कमा सकते है.

आईए जानते है कि आखिर कितने तरह के होते है टैटू.

1.   परमनेंट टैटू-

इस तरह के टैटूज का ट्रेंड बहुत है ये हमेशा के लिए शरीर पर होते है. कई बॉलीवुड सेलिब्रिटी इसे अपने शरीर पर बनवा चुके है. हां ये बात जरुर ध्यान रखने लायक है कि इन्हें काफी सोच- समझकर ही बनवाना चाहिए क्योंकि इसे आसानी से नहीं मिटाया जा सकता है. इसको बनाने के लिए मशीन का उपयोग किया जाता है.

2.    टैंपररी टैटू-

इस तरह के टैटू काफी पापुलर है क्योंकि इन्हे आसानी से रिमूव किया जा सकता हैं.

क्या क्वालिटीज होनी चाहिए टैटू आर्टिस्ट बनने के लिए-

इसके लिए क्रिएटिव होना बेहद जरुरी है. टैटू शरीर के विभिन्न हिस्सों जैसे बांह, कलाई, पीठ ,पेट पैरों जैसे बॉडी पार्ट पर बनाए जाते है. अब ये आप पर है कि आप कैसे अपनी क्रिएटिविटी दिखाते है. विविध कलर कॉम्बीनेशन, केमिकल्स जिसका उपयोग टैटू बनाने के लिए किया जाता है उनकी जानकारी होना बेहद जरुरी है.

कैसे और कहां से ले ट्रेनिंग-

  • इसके लिए किसी कॉलेज या युनिवर्सिटी से डिग्री या डिप्लोमा लेने की जरुरत नहीं है. इसके लिए कई संस्थान सामान्य ट्रेनिंग के जरिये टैटू मेकिंग सिखा कर लाइसेंस देते है. इसका लाइसेंस पाने के लिए एलायंस ऑफ प्रोफेशनल टैटूइस्ट्स (एपीटी) ने कुछ बेसिक स्टैंडर्ड तय किए है.
  • भारत की लगभग सभी बड़ी मेट्रो सिटीज में इस कला की ट्रेनिंग देने के लिए स्टूडियोज बनाए गए है. इस कोर्स की अवधि लगभग 4 से 5 सप्ताह हो सकती है और खर्चा 75 हजार से लेकर 1 लाख तक हो सकता है.

कितनी होती है कमाई-

  • शुरुआत में आपको इसके लिए 15 से 20 हजार रुपए मिल सकते है लेकिन अगर आपका काम अच्छा है तो आप नाम के साथ दाम भी कमा सकते है.
  • एक टैटू आर्टिस्ट के तौर पर आप लाखों रुपए भी कमा सकते है.
  • एक सफल टैटू आर्टिस्ट बनने के लिए जरुरी है कि आपको नए ट्रेंड की जानकारी होनी चाहिए.

क्योंकि टैटू से त्वचा में कई तरह के संक्रमण भी फैलते है ऐसे में इसके बारे में भी आपको जानकारी होना चाहिए. आपको अपना नॉलेज बढ़ाने के लिए सेमिनार्स और वर्कशॉप भी अटेंड करते रहना चाहिए.

Follow Us
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button