पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की भतीजी और कांग्रेस की वरिष्ठ नेता और पूर्व सांसद करुणा शुक्ला का निधन हो गया। कोरोना वायरस से संक्रमित होने के कारण 70 वर्षीय शुक्ला को पिछले दिनों अस्पताल में भर्ती कराया गया था।  70 वर्षीया करुणा शुक्ला दो बार बीजेपी से सांसद रह चुकी थीं। इसके बाद 2013 में उन्होंने कांग्रेस का दामन थाम लिया था। बीजेपी की ओर से विधानसभा चुनाव में उन्हें टिकट न दिए जाने के बाद करुणा शुक्ला ने कांग्रेस का दामन थामा था। इसके बाद 2018 में करुणा शुक्ला ने राज्य के पूर्व सीएम रमन सिंह के खिलाफ राजनंदगांव से पर्चा भरा था, लेकिन वह मुकाबले में हार गई थीं। 

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड : कैबिनेट बैठक में फैसला, हरिद्वार में शाही स्नान के बाद लागू होगा कोविड कर्फ्यू 

ग्वालियर में हुआ था शुक्ला का जन्म
पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की भतीजी करुणा शुक्ला का जन्म एक अगस्त वर्ष 1950 में मध्य प्रदेश के ग्वालियर में हुआ था। उनका विवाह छत्तीसगढ़ के बलौदाबाजर क्षेत्र के प्रसिद्ध चिकित्सक डॉक्टर माधव शुक्ला से हुआ था। करुणा शुक्ला ने बलौदबाजार क्षेत्र से राजनीति की शुरुआत की और वर्ष 1993 में भारतीय जनता पार्टी की टिकट पर पहली बार अविभाजित मध्यप्रदेश विधानसभा के लिए चुनी गईं। बाद में वह वर्ष 2004 में जांजगीर लोकसभा क्षेत्र से सांसद भी चुनी गईं।

यह भी पढ़ें : भयावह होता जा रहा कोरोना, यूपी के ग्रामीण इलाकों में पहुंचा संक्रमण  

करुणा शुक्ला के निधन पर सीएम भूपेश बघेल ने ट्वीट कर दुख जताया है। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री ने कहा कि करुणा शुक्ला से उनके पारिवारिक संबंध थे। बघेल के अलावा कई अन्य दिग्गज कांग्रेसियों ने भी निधन पर शोक व्यक्त किया है। इसके अलावा 2018 में उनके मुकाबले उतरने वाले रमन सिंह ने भी पूर्व प्रतिद्वंद्वी के निधन पर दुख जताया है।

Follow Us