पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के राष्ट्र महासचिव हरीश रावत ने उत्तराखंड की मौजूदा सरकार को कोरोना वायरस संक्रमण के लिहाजे से एक सलाह दी है आपकी जानकारी के लिए बता दें उन्होंने कुरौना की जांच की सुविधा को बढ़ाने की मांग की है। सोशल मीडिया में एक पोस्ट कर उन्होंने कहा कि आरटी पीसीआर टेस्ट की सुविधाएं देहरादून के 12 लैब तक सीमित होने के कारण लोगों में भारी नाराजगी और घबराहट बनी हुई है।

यह भी पढ़े : जानिए कैसे 24 साल की उम्र में रितेश अग्रवाल बने 7,800 करोड़ रुपए की प्रॉपर्टी के मालिक 

जांच के लिए लगी हुई लंबी कतारें आमजन को चिंतित कर रही हैं उन्होंने कहा कि सरकार को चाहिए कि चाहे वह निजी लैब हो या सरकारी वहां यह सुविधा प्रदान की जा सकती है। उन्होंने बाकी शहरों की तुलना करते हुए कहा कि जब देहरादून में यह हाल है तो हरिद्वार नैनीताल जैसे नगरों की स्थिति काफी चिंताजनक बनी होगी।

यह भी पढ़े : जानिए कैसे 24 साल की उम्र में रितेश अग्रवाल बने 7,800 करोड़ रुपए की प्रॉपर्टी के मालिक 

इतना ही नहीं उन्होंने पहाड़ों पर कोरोना वायरस संक्रमण की जांच की सुविधा को लेकर कहा कि पहाड़ों पर जांच की सुविधा तो केवल नाम मात्र की है जांच में अभाव और संक्रमित के संपर्कों की पहचान और इलाज करना संभव है।

Follow Us