Indinomics

खाद्य तेल की कीमतों में 10 रुपये से 15 रुपये प्रति लीटर की कटौती

खाद्य सचिव सुधांशु पांडे ने बुधवार को कहा कि अंतरराष्ट्रीय कीमतों में गिरावट और सरकार के समय पर हस्तक्षेप से खुदरा तेल की कीमतों में तेज गिरावट आई है। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, पैकेज्ड खाद्य तेल की कीमतें, जो इस महीने की शुरुआत से गिर रही थीं, अब 150-190 रुपये प्रति किलो के आसपास हो रही हैं।

आज शाम 6 बजे रिलीज़ होगा सिद्धू मूसेवाला का यह गाना

उन्होंने कहा कि भारत ने चालू वित्त वर्ष में अब तक 30 लाख टन गेहूं का निर्यात किया है। साथ ही सरकार कुछ अन्य देशों से गेहूं की आपूर्ति के अनुरोध पर भी विचार कर रही है। पिछले हफ्ते, अदानी विल्मर और मदर डेयरी ने विभिन्न खाद्य तेलों के एमआरपी में 10 रुपये की कटौती करके 15 रुपये प्रति लीटर कर दिया। दोनों कंपनियों ने कहा था कि नए एमआरपी वाले पैकेट जल्द ही लॉन्च किए जाएंगे।

SSC ने जारी किये MTS Hawaldar के Admit Card, यहाँ देंखे 

पांडे ने यहां संवाददाताओं से कहा, “सरकार और वैश्विक घटनाक्रमों के समय पर हस्तक्षेप के कारण खाद्य तेल की कीमतों का रुझान बहुत सकारात्मक है।” खाद्य तेल, खुदरा गेहूं और गेहूं के आटे की कीमतें स्थिर हैं। उन्होंने कहा कि सरकारी नियम घरेलू कीमतों को नियंत्रित करने में उपयोगी हैं। खाद्य मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि प्रमुख खाद्य तेल ब्रांडों ने धीरे-धीरे अपने एमआरपी को कम किया है और हाल ही में कीमतों में 10-15 रुपये प्रति लीटर की कटौती की है।

Follow Us
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
%d bloggers like this: