CWC की बैठक से पहले ही अंदाजा लगाया जा चुका था कि मीटिंग के दौरान स्टॉर्मी सीन देखने को मिल सकते हैं, लेकिन अब तो माहौल ही गंभीर होता दिख रहा है। बैठक के चलते जमकर कलह हुआ और इस बात की जानकारी सूत्रों के माध्यम से नहीं बल्कि खुद कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं के ट्वीट से देखी जा सकती है।

 

सोनिया गांधी ने इस्तीफा देने कि की पेशकश 

दरअसल आज CWC की बैठक जैसे ही शुरू हुई सोनिया गांधी ने अपना अंतरिम पद छोड़ने की पेशकश की। इस बात पर गुस्साए पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आरोप लगाए हुए कहा कि पार्टी के नेताओं ने भाजपा की मिलीभगत से यह सब किया है। राहुल से इस बयान से बात उनका विरोध होना शुरू हो गया। विरोध करने में सबसे आगे कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल और गुलाम नबी आजाद शामिल थे।

 

राहुल पर भड़के कपिल सिब्बल किया कटाक्ष भरा ट्वीट

कपिल सिब्बल ने राहुल गांधी की इस टिप्पणी को लेकर उनपर कटाक्ष करते हुए, बीते समय से अब तक कांग्रेस के लिए किए गए काम को याद दिलवाते हुए कहा कि उन्होंने पिछले 30 सालों में BJP के पक्ष में कोई बयान नहीं दिया है। इसके बावजूद ‘हम BJP से साठगांठ कर रहे हैं। कपिल सिब्बल ने बतौर वकील कांग्रेस के प्रति अपनी सेवा का उल्लेख करते हुए ट्वीट किया, “राहुल गांधी का कहना है, की हम BJP से साठगांठ कर रहे हैं, राजस्थान उच्च न्यायालय में कांग्रेस पार्टी का पक्ष रखते हुए सफल हुआ। मणिपुर में भाजपा को सत्ता से बेदखल करने के लिए पार्टी का पक्ष रखा।

गुलाम नबी आज़ाद ने कहा इस्तीफा दे दूंगा BJP से साठगांठ हुई तो

23 नेताओं में गुलाम नबी आज़ाद भी शामिल हैं, जिन्होंने CWC की बैठक को हामी भरी थी। गुलाम नबी ने कहा कि कोई साबित कर दे कि वह BJP से मिले हुए हैं। उसी समय इस्तीफा दे देंगे।

Follow Us