बिहार

फर्जी शिक्षकों को पकड़ने के लिए बिहार सरकार का प्लान तैयार

Bihar government’s plan : बिहार में फर्जी शिक्षकों को पकड़ने के लिए सरकार ने कमर कस ली है . आपको बता दें कि सभी नियोजित शिक्षकों के मैट्रिक और इंटरमीडिएट के प्रवेश पत्र प्राचार्य के हस्ताक्षर साथ ही बिहार बोर्ड द्वारा प्रवेश पत्र पर दिए गए संख्या और शिक्षकों के UAA नंबर का अब मिलान शुरू किया जाएगा।

Bihar government's plan

यह भी पढ़े : नकली रेमडेसीविर इंजेक्शन बेचने वाले दो शातिर अभियुक्त गिरफ्तार 

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि बिहार में फर्जी शिक्षकों की भर्ती का मामला कई बार सामने आया है ऐसे में अब बिहार सरकार ने जो प्लान ( Bihar government’s plan ) तैयार किया है उससे अंदाजा यह लगाया जा रहा है कि जल्द फर्जी शिक्षकों पर रोक लग सकती है, शिक्षकों द्वारा लगाए जा रहे डाक्यूमेंट्स का मिलान करने के लिए पटना जिला शिक्षा पदाधिकारी ने सभी बीईओ (प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी) को आदेश दिया है।

यह भी पढ़े : नकली रेमडेसीविर इंजेक्शन बेचने वाले दो शातिर अभियुक्त गिरफ्तार 

ईडी ने खोली पोल

दरअसल फर्जी प्रमाण पत्र पर कई शिक्षकों के नौकरी करने का मामला प्रकाश में आता रहा है। पिछले दिनों पटना डीईओ ने ऐसे ही एक मामले को पकड़ा है। उस पर कार्रवाई करने का आदेश दिया गया है। वहीं कई शिक्षकों के प्रमाणपत्र की जांच हो रही है। 2014 में कई ने फर्जी प्रमाण पत्र पर योगदान दिया दिया था।

Follow Us

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button