Bihar election congress rjd


क्या बिहार में महागठबंधन में अब तक कि सबसे बड़ी दरार पड़ने वाली है ? दरअसल कांग्रेस और आरजेडी के के बीच के खाई बढ़ती चली जा रही है। पहले चरण के नॉमिनेशन में एक दिन बचा है, लेकिन सीटों को लेकर अभी भी मामला उलझा है।

 

 

जानकारी के मुताबिक आरजेडी कांग्रेस को 73-75 सीटें देने को राजी है। कांग्रेस भी इतनी सीटों की मांग कर रही थी, लेकिन इसके बाद भी मामला फंस गया। 

 

 

मन मुताबिक सीटें मिलने के बाद भी मन मुटाव क्यों ? 

मामला सीटों के नाम को लेकर फंस गया है। सोर्स के मुताबिक आरजेडी, कांग्रेस को 73-75 सीटें देने को तैयार हैं, लेकिन ये 10 सीटें शहरी इलाके में यानी कि अर्बन सीटें होंगी। 10 अर्बन सीटों की शर्त पर आरजेडी कांग्रेस को 73-75 सीटें देने को राजी है, लेकिन यह बात कांग्रेस को बिल्कुल रास नहीं आई। कांग्रेस को लगता है कि इन 10 सीटों पर कैडर उर तरह से तैयार नहीं है और ऐसे में पार्टी यहां चुनाव लड़ने में हामी भरती है तो केवल नुकसान होगा। 

 

 

बैठक में होगी प्लान बी पर चर्चा

बुधवार को कांग्रेस की शीर्ष नेताओं के साथ दिल्ली में बैठक है। इस बैठक में बिहार के तमाम बड़े कांग्रेस नेता प्रदेश अध्यक्ष शामिल होंगे इस बैठक की अध्यक्षता प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल करेंगे। मीटिंग में अविनाश पांडे और कई बड़े नेता शामिल होंगे। मीडिया सोर्स के मुताबिक इस बैठक का उद्देश्य प्लान बी पर चर्चा करना है। 

 

 

 

संभावना यह भी जताई जा रही है की कांग्रेस की लीडरशिप में थर्ड फ्रंट बन सकता है। जिसमें लेफ्ट के साथ साथ आरएलएसपी, बीएसपी भी शामिल हो सकती हैं। 

Follow Us