लाइफस्टाइल

रोजाना पिए तुलसी का काढ़ा, आपकी इम्यूनिटी को करेगा बूस्ट

बीते साल से मार्केट में काढ़े की डिमांड बढ़ती जा रही है क्योंकि कोरोना वायरस संक्रमण से जंग में काढ़ा ( basil decoction ) काफी मददगार साबित हो रहा है कई तरह की कंपनियां इस देसी आयुर्वेद के इलाज को पैकेट में बंद कर कर के बेच रहे हैं और लोग अपनी इम्यूनिटी बूस्ट करने के लिए इंपैक्ट ओं को खरीद कर घर में बनाकर पी रहे हैं लेकिन ऐसा बिल्कुल भी नहीं है कि आप घर में इन चीजों को बना ना सके क्योंकि यह काढ़ा उन चीजों से बनता है जो आपके घर में आपको आसानी से उपलब्ध हो जाएंगी।

 basil decoction

यह भी पढ़े : छत्तीसगढ़ : सीएम भूपेश बघेल का सराहनीय कार्य, लखनऊ के मेदांता अस्पताल के लिए रायपुर से भेजा ऑक्सीजन टैंकर 

काढ़ा को बनाने के लिए नेचुरल चीजों का इस्तेमाल किया जाता है जो हर तरीके से हमारी सेहत के लिए फायदेमंद साबित होती है और आप सुबह एक कप चाय को काढ़ा से रिप्लेस कर दें तो मौसम कोई भी हो आप हमेशा स्वस्थ बने रहेंगे काढ़ा आपके जीवन में एक नई ताजगी लेकर आ सकता है क्योंकि यह आपकी इम्यूनिटी को इस हद तक दूर कर देता है कि आपकी शरीर किसी भी प्रकार के वायरस से लड़ने में सक्षम हो जाती है जो एलोपैथी की दवाइयां आपको कई वक्त बाद असर देती है।

काढ़ा में सबसे अहम चीज होती है तुलसी, जो हिंदुओं में हर घर के आंगन में पाई जाती हैं। तुलसी के सेवन से हमारे शरीर में वैसे भी कई प्रकार के फायदे होते हैं लेकिन तुलसी का काढ़ा बनाकर पीने से शरीर की इम्यूनिटी हो सकती है तुलसी के काढ़ा के सेवन से बॉडी के अंदर मौजूदा सारे toxics आसानी से शरीर से बाहर निकल जाते हैं अगर आप तुलसी के काढ़ा का सेवन रोजाना करते हैं तो आपका इम्यून सिस्टम दुरुस्त हो जाएगा।

यह भी पढ़े : छत्तीसगढ़ : सीएम भूपेश बघेल का सराहनीय कार्य, लखनऊ के मेदांता अस्पताल के लिए रायपुर से भेजा ऑक्सीजन टैंकर 

इसके साथ-साथ आपको कब्ज गैस एसिडिटी से जुड़ी समस्याओं से भी निजात तुलसी का काढ़ा दिला सकता है सर्दी जुकाम गले में खराश जैसी समस्याओं को भी तुलसी का काढ़ा रामबाण बनके ठीक कर देता है।

किस तुलसी का बनता है काढ़ा ?

तुलसी कई प्रकार की होती हैं दो तरह की तुलसी अक्सर घरों में पाई जाती हैं एक हरे रंग की जिसे रामा तुलसी कहां जाता है और दूसरी थोड़े काले रंग की तुलसी होती है जिसे श्यामा तुलसी कहते हैं। रामा तुलसी मसालेदार और कड़वी पाचन,पसीना और बच्चों की सर्दी खांसी की बीमारी को ठीक करने के लिए किया जाता है जबकि श्यामा तुलसी मसालेदार और कड़वी,मुलायम चिकनी पचाने में हल्की शोषक और वास्तविक में लाभदायक होती है।

यह भी पढ़े : छत्तीसगढ़ : सीएम भूपेश बघेल का सराहनीय कार्य, लखनऊ के मेदांता अस्पताल के लिए रायपुर से भेजा ऑक्सीजन टैंकर 

काढ़ा के साथ खाएं तुलसी का पत्ता

तुलसी भोजन द्वारा बॉडी में जाने वाले कार्बोहाइड्रेट और वसा के डाइजेशन को आसान बनाता है इसमें एंटीबैक्टीरियल तत्व शामिल होते हैं जिससे आपकी पाचन शक्ति और बेहतर हो जाती है तो अगर आप कहना बनाना मुश्किल काम लगता है तो 4 से 5 पत्ते खाने का ही ऑप्शन आपके सामने मौजूद है।

यह भी पढ़े : छत्तीसगढ़ : सीएम भूपेश बघेल का सराहनीय कार्य, लखनऊ के मेदांता अस्पताल के लिए रायपुर से भेजा ऑक्सीजन टैंकर 

  • कैसे बनाएं तुलसी का काढ़ा ?

एक पैन में एक कप पानी लेकर उसे उबाल ह

अब उसमें 7 से 8 तुलसी के पत्ते डालें

एक दो चम्मच अजवाइन

2-3 काली मिर्च

34 लॉन्ग और चुटकी भर नमक अदरक के साथ उसमें शामिल करें

काले के पानी को तब तक उबालें जब तक वह आधा कप ना हो जाए इसके बाद इसे छान लें और गरम-गरम पिए।

Follow Us

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button