Politics

जब तक राहुल गांधी हैं तब तक कांग्रेस आगे नहीं बढ़ सकती – इस्तीफा देते वक्त असम एमएलए का बयान

देश पर कई सालों तक सरकार बनाने वाली कांग्रेस पार्टी आज कई राज्यों से बिखरती जा रही है जिस राज्यों में कांग्रेस अभी चल रही है, वहां पर भी पार्टी में अंदरूनी फूट देखने को मिल रही है जिस को सुलझाने के लिए कांग्रेस हाईकमान कमेटी बनाकर प्रयास कर रही है. वहीं कांग्रेस पार्टी के कई वरिष्ठ नेता कांग्रेस के हालात देखकर पार्टी से नाता तोड़ते जा रहे हैं,और कमल का दामन थाम रहे हैं. ऐसे में पार्टी के कई नेताओं का हौसला भी अब बिखरता जा रहा है बता दें की हाल ही में असम से चार बार विधायक रहे रूप ज्योति कुर्मी ने कांग्रेस पार्टी को बड़ा झटका दे दिया दरअसल उन्होंने विधायक पद से इस्तीफा दे दिया.

Assam MLA's statement

यह भी पढ़े : ट्विटर को नियंत्रित नहीं कर सके तो अब उसे प्रभावहीन करने के प्रयास में हैं : ममता बनर्जी

और विधायक रूप ज्योति कुर्मी भारतीय जनता पार्टी में शामिल होने की अटकलें लगाई जा रही है आपको इस बात की जानकारी हो कि बीते कुछ दिनों पहले कांग्रेस पार्टी के एक और बड़े ब्राह्मण चेहरे जितिन प्रसाद कांग्रेस से नाता तोड़कर भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए वहीं नवीन जिंदल के भी पार्टी छोड़ने की खबरें सुर्खियां बटोर रही है, आपको याद होगी हाल ही में कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने बयान देते हुए कहा था कि देश को मजबूत विपक्ष की जरूरत है ऐसे में कांग्रेस पार्टी को राज्य और केंद्र स्तर पर काम करने की बहुत आवश्यकता है.

इसी के बीच असम से चार बार विधायक रहे रूप ज्योति कुर्मी ने भी कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा दे दिया है जानकारी सामने आई है कि रूप ज्योति कुर्मी भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो सकते हैं, हालांकि कुर्मी ने कांग्रेस पार्टी छोड़ने की वजह जाहिर करी है उन्होंने वजह बताते हुए कहा कि “मैं कांग्रेस छोड़ रहा हूं. दिल्ली और गुवाहाटी में हाईकमान के नेता बुजुर्ग नेताओं को ही प्राथमिकता देते हैं. हमने उनसे कहा कि कांग्रेस के पास इस बार सत्ता में आने का अच्छा मौका है. हमने एआईयूडीएफ के साथ गठबंधन नहीं करना चाहिए क्योंकि यह एक गलती होगी अब देख लीजिए परिणाम आप सबके सामने हैं.

राहुल गांधी को बताया कमजोर नेता

वही रूप ज्योति कुर्मी ने कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी को कमजोर नेता बताते हुए कहा कि कांग्रेस अपने युवा नेताओं की नहीं सुन रही है इसलिए सभी राज्यों में इसकी स्थिति खराब होती जा रही है मैं विधानसभा अध्यक्ष से मिलूंगा और अपना इस्तीफा दे दूंगा जहां तक राहुल गांधी का सवाल है तो वह पार्टी नेतृत्व करने में असमर्थ हैं और वह शीर्ष पर है तो पार्टी आगे नहीं बढ़ेगी.

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार कुर्मी 21 जून को लखीमपुर में एक समारोह के दौरान भारतीय जनता पार्टी में शामिल होंगे. भाजपा में शामिल होने की अपनी योजनाओं की घोषणा करने के बाद रूप ज्योति कुर्मी कांग्रेस नेतृत्व पर भारी पड़े और असम में मुख्यमंत्री हेमंत बिस्वा सरमा की प्रशंसा करने लगे। रूप ज्योति कुर्मी ने यह कहते हुए कि कांग्रेस के केंद्रीय नेतृत्व के पास कोई काम नहीं है, आरोप लगाया कि पार्टी के राज्य नेतृत्व में तानाशाही चल रही है।

यह भी पढ़े : यूपी विधानसभा चुनाव 2022 की तैयारी में जुटी समाजवादी पार्टी, जारी किया वीडियो

कुर्मी ने परोक्ष रूप से कहा कि असम प्रदेश कांग्रेस कमेटी वर्तमान में राज्य के उपाध्यक्ष रकीबुल हुसैन की इच्छा के अनुसार चल रही है। उन्होंने कहा कि “कांग्रेस एक बोर्गोस (एक विशाल पेड़) है, लेकिन इसके पत्ते गिरने और मुरझाने लगे हैं।” कुर्मी ने कहा कि वह मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा की क्षमता और कौशल के कारण भाजपा की ओर आकर्षित हो रहे हैं।

Follow Us
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button