क्या आप भी है अपात्र राशन उपभोक्ता तो हो जाए अलर्ट, नहीं झेलनी पद सकती है ये दिक्कत


उत्तर प्रदेश : अपात्र होने के बावजूद राशन लेने वालों पर प्रशासन ने शिकंजा कसने का मन बना लिया है। अपात्र होने के बावजूद राशन कार्ड बनवाकर राशन लेने वालों से वसूली भी हो सकती है। इस बाबत सभी जिलों में सत्यापन का काम भी शुरू कर दिया गया है।

ये भी पढ़े :- राशन को लेकर केंद्र सरकार का बड़ा ऐलान, जून माह से नहीं होगा मुफ्त गेंहू वितरण

इतना ही नहीं जिलाधिकारियों ने यह चेतावनी भी जारी कर दी है कि, ऐसे लोगों से गेहूं और चावल की बाजार की दर से वसूली की जाएगी। दरअसल शासन ने प्रदेशभर में फिर से राशन कार्डों के सत्यापन के निर्देश दिए हैं। जनवरी 2021 से अप्रैल 2022 तक इस बाबत अभियान चलाया गया। जिसमें 8,03,355 राशन कार्ड निरस्त कर दिए गए। जबकि 11,64,845 नए राशन कार्ड बनाए गए।

ये भी पढ़े :-अमृतसर के गुरुनानक देव अस्पताल में लगी भीषण आग, खिड़कियाँ तोडकर मरीजों को निकाला जा रहा बाहर

वहीं अब एक बार फिर से अभियान शुरू कर दिया गया है। खाद्य आयुक्त ने भी सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि, वे अभियान को गंभीरता से चलाएं। लोगों से अपील करें कि, अगर अपात्र हैं तो अपना राशन कार्ड सरेंडर कर दें। नहीं तो 4 रुपये प्रति किलो गेहूं और 32 रुपये प्रति किलो चावल या फिर बाजार की दर तय कर वसूली की जाएगी। यह भी कहा गया है कि राशन कार्ड सरेंडर करने वाले इसकी रसीद अवश्य ले लें ताकि आगे जांच में यह दिखा सकें कि उन्होंने अपना राशन कार्ड सरेंडर कर दिया है।

Follow Us

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: