कोरोना वायरस के कारण देश भर से ऐसे तस्वीरें, वीडियो आ रहे हैं जो दिल को झकझोर दें. इस बीच एक ऐसा डांस वीडियो सामने आया है जो आपके चेहरे पर मुस्कान ला देगा. ये वीडियो देख आप समझ जाएंगे कि कोरोना वॉरियर्स आखिर कितनी मुश्किलों से अपना काम कर रहे हैं.

यह भी पढ़ें : इतिहास में दर्ज हुआ हरिद्वार महाकुंभ, कोरोना काल में भी हुई इतनी भीड़  

देहरादून से लगभग 280 किलोमीटर दूर स्थित शहर हल्द्वानी में सोमवार रात सुशीला तिवारी मेडिकल कॉलेज के बाहर से कोविड कर्फ्यू का पालन करते हुए बारातियों की सीमित संख्या के साथ बारात गुजर रही थी। अचानक पीपीई किट पहने एक व्यक्ति बारातियों के बीच आ धमका और बैंड द्वारा बजाई जा रही धुनों पर जमकर नाचने लगा। पहले तो सभी बाराती घबरा गए लेकिन जल्द ही उन्हें पता चला कि बिन बुलाए ये डांसर वास्तव में अस्पताल के बाहर इंतजार कर रहे एक एम्बुलेंस चालक थे।

खबरों के मुताबिक, पीपीई किट पहने महेश नाम के इस एम्बुलेंस ड्राइवर टर्नड डांसर ने बारातियों का दिल खुश कर दिया। यह बारात एसटीएच के करीब शाकुंतलम बैंक्वेट हॉल में आई थी। बताया जा रहा है कि पीपीई किट पहनकर बारात में नाचने वाला व्यक्ति सुशीला तिवारी हॉस्पिटल में कोविड-19 के मरीजों को अस्पताल पहुंचाने वाला एंबुलेंस चालक महेश था। महेश पांडे काफी समय से लगातार सुबह से देर रात तक कोरोना मरीजों को अस्पताल पहुंचाने के काम में जुटे हैं।

इस दौरान  एसटीएच के बाहर बारात गुजरने पर वह खुद को रोक नहीं सका। उसने बताया कि सिर्फ मूड बदलने के इरादे से उसने बारात में डांस किया, बारातियों में दहशत फैलाने का उनका कोई इरादा नहीं था।

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड : कैबिनेट बैठक में फैसला, हरिद्वार में शाही स्नान के बाद लागू होगा कोविड कर्फ्यू 

डांसिंग एम्बुलेंस ड्राइवर का ये वीडियो शादी में आए मेहमानों ने शूट किया था और तब से सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। गौरतलब हो कि कोविड-19 के बढ़ते मामलों पर अंकुश लगाने के लिए, राज्य सरकार ने वैवाहिक कार्यकर्मों के लिए अधिकतम 50 मेहमानों की सीमा तय की है। संबंधित पक्षों को स्थानीय प्रशासन से अनुमति लेने की भी आवश्यकता होती है। कोविड के मामलों को नियंत्रित करने के लिए, देहरादून, हल्द्वानी, ऋषिकेश, रुद्रपुर, रामनगर सहित उत्तराखंड के कई शहरों में कर्फ्यू लगाया हुआ है जिसके 3 मई को समाप्त होने की उम्मीद है

Follow Us