मध्यप्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले काफी रफ्तार पकड़ते देख रहे हैं साथ ही प्रदेश के अंदर बढ़ते मामलों के कारण ऑक्सीजन व बेड की कमी भी बखूबी देखने को मिल रही है। प्रदेश के अंदर संक्रमण का आंकड़ा इस कदर बढ़ रहा है कि 24 घंटों के अंदर 12762 नए मामले दर्ज किए गए।

3 villages

यह भी पढ़े : छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश के बीच सात मई तक नहीं चलेंगी बसें 

हाथी जानकारी के लिए बता दें कि संक्रमण की संख्या बढ़ने से अस्पतालों में ऑक्सीजन बेड और दवाएं कम पड़ने लगी है हालांकि मध्यप्रदेश के शिवराज सिंह चौहान सरकार ने अपनी एड़ी चोटी तक का जोर लगा दिया है ताकि प्रदेशवासियों को तकलीफों का सामना कम करना पड़े लेकिन कोरोना वायरस संक्रमण की स्थिति दिन-ब-दिन बेकाबू होती जा रही है।

इन सबके बीच भी मध्य प्रदेश के तीन ऐसे गांव ( 3 villages ) सामने आए हैं जिन्होंने पैसे जोड़कर वह कमाल कर दिखाया है जो सचमुच तारीफ के काबिल है, दरअसल मध्य प्रदेश का नक्शा प्रभावित जिला बालाघाट ने एक अनूठा प्रयास शुरू किया है बालाघाट के 3 गांव ( 3 villages ) में ग्रामीणों के प्रयास से हॉस्टल को कोविड सेंटर बना दिया गया है।

यह भी पढ़े : छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश के बीच सात मई तक नहीं चलेंगी बसें 

अब इसमें खास बात यह है कि मरीजों के इलाज का खर्च मूल मानी से हो रहा है यानी ग्रामीणों ने आसपास में राशि इकट्ठा कर इसको वेट सेंटर की शुरुआत और मेडिकल उपकरणों की खरीद की है।

Follow Us