Corona Virus

स्कूल खोलने की पूरी दुनिया में चल रही है प्लानिंग, जानें किसकी क्या है तैयारी 

अमेरिका भारत समेत कई ऐसे देश हैं जो स्कूल खोलने के लिए सोच विचार कर रहे हैं। वो भी उस वक्त जब किलर  कोरोना अपने पैर पसार रहा है। साथ ही WHO की इस बात से चिंता और बढ़ गई है, कि कोरोना वायरस अब एयरबोर्न है। यानी कि भीड़ बंद जगह जहां हवा की कमी है, वहां कोरोना तेजी से फैल रहा है। इसलिए अमेरिका में पेरेंट्स और डॉक्टर्स स्कूल न खोलने का दबाव बना रहे हैं।

वॉशिंगटन यूनिवर्सिटी के रिसर्च के मुताबिक इजरायल में मई में स्कूल खोले गए फिर धीरे-धीरे स्टूडेंट्स की संख्या लिमिटेड करना बंद कर दिया। नतीजा यह निकला कि बच्चे और स्टाफ पहले से ज्यादा संक्रमित पाए गए।

आयरलैंड में कोरोना संक्रमितों की स्टडी के मुताबिक 3 कम उम्र और 3 अधिक उम्र के लोगों 1155 लोगों के संपर्क में आए और उनका विश्लेषण किया गया। इन के संपर्क में ऐसे भी स्टूडेंट्स थे जो स्कूल की सभी गतिविधियों में शामिल थे। परिणाम में देखा गया कि किसी भी स्टूडेंट्स में कोरोना के लक्षण नहीं थे। जबकि बड़े लोगों में संक्रमण के मामले सामने आए।

टेक्सास यूनिवर्सिटी में बायोलॉजी और सांख्यिकी प्रोफेसर मेयर्स का कहना है कि स्कूल मास्क और बच्चों की संख्या कम करने जैसे उपायों के साथ संक्रमण को कैसे रोका जा सकता है। साथ ही इंफेक्शन किस स्तर तक पहुंचेगा यह भी स्कूल खोलने के बाद ही पता चलेगा।

मेयर्स आगे कहती हैं कि इंफेक्शन प्रत्येक हजार में सात लोगों में पहुंच गया है। यानी 500 बच्चों वाले किसी भी स्कूल में 4 कोरोना पॉजिटिव स्टूडेंट होंगे। हालांकि स्कूल संक्रमण फैलना रोक सकते हैं। निर्भर यह करता है कि उनकी तैयारी कैसी है।

वहीं अमेरिका अकेडमी ऑफ पीडियाट्रिक के मुताबिक अगर स्कूल खोलना चाहते हैं तो बच्चों से जुड़ी सुरक्षा और सावधानी की तैयारी कर लेनी चाहिए।

       खास बातें 

  • क्लास में टीचर्स धीमी आवाज में बात करें, लो वॉइस से ड्रॉपलेट्स दूर तक नहीं फैलते।

 

  • स्कूलों में हाइब्रिड सिस्टम अपनाएं

 

  • स्कूलों के खुलने का समय कम हो साथ ही दो डेस्क के बीच 5 से 6 फीट की दूरी जरूरी है।

 

  • बच्चे ग्रुपिंग न करें
Follow Us
Show More

Related Articles

Back to top button