इंडिया राइज स्पेशलउत्तर प्रदेशहेल्थ

मिसाल-बेमिसाल: मां की इच्छा थी गरीबों को मुफ्त में मिले दवाएं, बेटे ने खोल दिया मेडिसिन बैंक

हाजी शकील बोले, मां की इच्छा थी कि सभी गरीबों को मिले मुफ्त में दवा, पर्चा दिखाकर कोई भी गरीब ले सकता है दवा

The India Rise
बरेली। दवा के पैसे न होने के कारण अच्छे अस्पताल में इलाज न करा सकने वाले लोगों के लिए एक अच्छी खबर है। मारिया डे ग्रुप के चेयरमैन हाजी शकील कुरैशी ने गरीबों के लिए मेडिसिन बैंक शुरू किया है। यहां जिले के सभी गरीबों को निशुल्क दवा दी जाएगी। यहां सभी कंपनियों की ब्रांडेड दवाएं बिल्कुल मुफ्त में मिलेंगी। कोई भी गरीब डॉक्टर का पर्चा देखकर यहां से दवा ले सकता है।
medicin bank
हाजी शकील कुरैशी ने बताया कि मेडिसिन बैंक खोलने के लिए वह लंबे समय से प्रयासरत थे। कुछ साल पहले प्रशासन के सहयोग से मेडिकल बैंक खोलने के लिए उन्होंने प्रयास किया था, मगर कुछ कारणों के चलते वह प्रोजेक्ट आगे नहीं बढ़ पाया। अब उन्होंने पुराना शहर में शाहदाना रोड पर मेडिसिन बैंक खोला है। इसके लिए करीब एक  महीने पहले दुकान देखी गई थी। मेडिसिन बैंक तैयार करने के बाद इसकी विधिवत शुरुआत कर दी गई है। यहां सभी गरीब और जरूरतमंद लोगों को मुफ्त में दवा बांटी जा रही है। 3 दिन में 300 से अधिक लोग दवा ले चुके हैं। मेडिसिन बैंक में दवा पूरी तरह निशुल्क है। किसी से भी दवा का कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा।
haji shaqeel quraishi
डॉक्टर के पर्चे के बगैर किसी को नहीं मिलेगी दवा
हाजी शकील कुरैशी ने बताया कि मेडिसिन बैंक से डॉक्टर के पर्चे के बगैर किसी को भी दवा नहीं दी जाएगी। डॉक्टर का पर्चा भी एक महीने से अधिक पुराना नहीं होना चाहिए।उन्होंने कहा कि दवा वितरण में सभी नियम कानून और मानकों का पालन किया जा रहा है।

मेडिकल स्टोर पर ट्रेंड स्टाफ बांट रहा लोगों को दवा
हाजी शकील कुरैशी ने बताया कि मेडिसिन बैंक पर दवा वितरण के लिए फार्मासिस्ट की तैनाती की गई है। फार्मासिस्ट की अगुवाई में ट्रेंड स्टाफ लोगों को दवा बांट रहा है। प्रशासन व पुलिस को इसकी जानकारी दे दी गई है।

माता पिता का सपना था कि गरीबों का मुफ्त में मिलें दवाएं
हाजी शकील कुरैशी ने बताया कि उनके माता-पिता का सपना था कि गरीब लोगों का मुफ्त में इलाज हो और उन्हें दवाएं भी मुफ्त मिलें। उसी सपने को पूरा करने के लिए मेडिसिन बैंक शुरू किया गया है। ऐसे प्रयास आगे भी जारी रहेंगे।

Follow Us

Related Articles

Back to top button