BOLLYWOODशख्सियत

भारतीय लेखक, गीतकार, एक दिव्य चरित्र योगेश गौर ने अपनी सांसों को आज विराम दे दिया, लता मंगेशकर ने दी श्रद्धांजलि

वरिष्ठ गीतकार योगेश गौर का आज निधन हो गया. वे 77 वर्ष के थे. उन्होंने आखिरी सांस मुंबई के गोरेगांव वाले घर में ली. उन्होंने कई फिल्मों के गानों को बड़ी ही खूबसूरती से लिखा. 1971 में आनंद फिल्म से करियर की शुरुआत की, कहीं दूर जब दिन ढल जाए, जिंदगी कैसी है ये पहेली हाय जैसे गाने आज भी लोग गुनगुने हैं.

इस खबर को सुनकर लता मंगेशकर ने ट्वीट किया कि “मुझे अभी पता चला कि दिल को छूने वाले गीत  लिखने वाले कवि योगेश जी का आज स्वर्गवास हुआ. यह सुनकर मुझे बहुत दुख हुआ. योगेश जी के लिखे मैंने कई गीत गाए.

बता दें कि योगेश लंबी समय से डायबिटीज से जूझ रहे थे. कुछ साल पहले उनकी किडनी का भी ऑपरेशन हुआ था.
यादगार गीतों के साथ आज योगेश गौर ने सभी को अलविदा कर दिया है.

Follow Us

Related Articles

Back to top button

Adblock Detected

Please deactivate the Ad Blocker to visit this site.