Uncategorized

कोरोना वायरस: खुद धोएं अपने कपड़े फिट रहेंगे, संक्रमण से भी बचेंगे

द इंडिया राइज
कोरोना संकट के इस समय में हर किसी की प्राथमिकता सफाई है, जिसमें साफ कपड़े पहनना सबसे अहम हो गया है। विशेषज्ञ मानते हैं कि कपड़ों को संक्रमण से दूर रखने के लिए जरूरी है कि उन्हें अलग-अलग व ठीक ढंग से धोया जाए। ऐसे में वॉशिंग मशीन से बेहतर विकल्प हाथ से कपड़े धोना माना जा रहा है। अमेरिका में जॉर्जिया के डर्मेटोलॉजिस्ट कंसल्टेंट व त्वचा विशेषज्ञ एमिली डी गोलियन के मुताबिक, लॉकडाउन में अगर लोग हाथ से कपड़े धोकर पहनते हैं तो संक्रमण का खतरा तो घटेगा ही, साथ ही एक बेहतरीन व्यायाम भी साबित होगा।
washing clothes
-कपड़े धुलने से कम होगा पेट अगर आप वजन घटाना चाहते हैं तो हाथ से कपड़े धुलना शुरू करें। कपड़ों में ब्रश लगाने, उन्हें मलने, टब में धुलने, निचोड़ने और धूप में डालने की प्रक्रिया में पूरे शरीर की कसरत हो जाती है। इससे बैली का मोटापा घटता है, बार-बार बैठने और खड़े होने से सिटअप एक्सरसाइज की तरह पैर मजबूत होते हैं। कपड़े निचोड़कर तार पर डालने के दौरान हाथों की कसरत हो जाती है। इस तरह शरीर की काफी कैलोरी बर्न हो जाती है। अगर हर दिन कपड़े नहीं धो सकते तो सप्ताह में दो बार कपड़े धो लें, ज्यादा कपड़े इकट्ठे न करें ।

-ज्यादा सर्फ से फेफड़े को नुकसान अगर आप आवश्यकता से ज्यादा डिटरजेंट से कपड़े धुलते हैं तो वे पूरी तरह साफ नहीं होते क्योंकि उनमें डिटरजेंट का अंश रह जाता है। साथ ही ऐसे कपड़े पहनने से सेहत पर खतरा बनता है। विशेषज्ञ बताते हैं कि डिटरजेंट में मौजूद फिनॉल से फेफड़ों, हृदय, गुर्दे और यकृत को नुकसान पहुंचता है क्योंकि इस रसायन को त्वचा अवशोषित कर लेती है।

-धूप में कपड़े होंगे सेनेटाइज लॉन्ड्री ड्रायर या वॉशिंग मशीन में कपड़े सुखाने से उनमें संक्रमण का खतरा बना रहता है। विशेषज्ञ बताते हैं कि धूप एक प्राकृतिक सेनेटाइजर है, जिससे कपड़े संक्रमणमुक्त होते हैं। यह प्राकृतिक ब्लीच का भी काम करता है जिससे सफेद कपड़ों में चमक आती है। साथ ही कपड़ों पर लगे धब्बे भी मिटाने में धूप सहायक है।

-हाथ से धोएं फेसमास्क डर्मेटोलॉजिस्ट की सलाह है कि हाथ से फेसमास्क धोकर पहनना ज्यादा सुरक्षित है। एक बार मास्क पहनने के बाद उसे गर्म पानी में डिटरजेंट या साबुन की सहायता से रगड़कर झाड़ बनाएं। कम से कम बीस सेकंड़ तक उसे रगड़ें और फिर धोकर धूप में सुखा लें। यह दोबारा इस्तेमाल के लिए सुरक्षित होगा।

-इस्त्री करने से बढ़ती है एकाग्रता कपड़ों पर प्रेस या इस्त्री करना बहुत लोगों को पसंद नहीं होता पर क्या आप जानते हैं कि यह घरेलू काम आपके मस्तिष्क को ध्यान लगाने जितनी एकाग्रता देता है। इस्त्री करते समय कपड़े के फेब्रिक के हिसाब से सही आइरन मशीन का मोड सेट करना, पूरे ध्यान से इस्त्री करना ताकि कपड़ा न जल जाए आदि बातें हमारा ध्यान दूसरे ख्यालों से हटाती हैं, जिससे हम राहत महसूस करते हैं। साथ ही इससे हाथों की कसरत हो जाती है। इस्त्री करने में ज्यादा परेशानी न आए, इसके लिए जरूरी है कि हम हाथ से कपड़े धुलने को प्राथमिकता दें।

Follow Us
Show More

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: