भारत में हेवी फाइल शेयरिंग साइट (We Transfer) को लेकर विवाद बढ़ता जा रहा है. टेलीकम्युनिकेशन ने We Transfer पर बैन लगा दिया था. अब सरकार सभी दूसरी इंटरनेट कंपनियों इस साइट को ब्लॉक करने की बात रखी है. रिपोर्ट्स के मुताबिक 18 मई को We Transfer पर दूरसंचार विभाग (DoT) ने बैन लगा दिया था.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक (We Transfer) को  ब्लॉक करने की मुख्य वजह राष्ट्रीय सुरक्षा और जनहित को बताया गया है. वहीं कंपनी (We Transfer) जल्द ही इस मुद्दे पर कोई बयान जारी करेगी.

बता दें कि लॉकडाउन के चलते जब सभी वर्कर्स WFH यानी Work from home कर रहे हैं. कंपनी को फाइल्स ट्रांसफर करने के किए (We Transfer) साइट का यूज किया जाता है. (We Transfer) एक बार में 20GB तक कि फाइल्स को फ्री में ट्रांसफर कर देती है साथ ही पैसे लगाने पर फ़ाइल का साइड बढ़ा कर भी भेज सकते हैं.

ऐसे में अचानक (We Transfer) को ब्लॉक कर दिया गया जब यूज़र्स को साइट सर्च में (We Transfer)  साइट नहीं मिली तो ट्विटर पर ट्वीट किया गया. जिससे उन्हें इस साइट को ब्लॉक किये जाने की जानकारी मिली.
साथ ही (We Transfer) कंपनी ने एक ट्वीट किया जिसमें लिखा ,था कि हमें रिपोर्ट मिली है, कि भारत में (We Transfer) को आधिकारिक रूप से ब्लॉक कर दिया गया है. हमारी कंपनी इस मुद्दे की जानकारी लेने की कोशिश कर रही है. उम्मीद है कि जल्द ही कोई जानकारी मिलेगी तब तक आप वीपीएन सेवा का इस्तेमाल कर सकते हैं यह एक अच्छा समाधान है.

(We Transfer) को 2009 में नीदरलैंड में हैवी फाइल्स को शेयर करने के लिए यूज किया जाता था. अब यह लगभग सभी जगह इस्तेमाल की जा रही है.

Follow Us