देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने कोहराम मचा रखा है। प्रतिदिन कोरोना के नए मरीजों और कोविड से होने वाली मौतों की संख्या में बढ़ोतरी जारी है। वहीं बुलंदशहर में लगातार बढ़ते मरीजों के चलते स्वास्थ्य प्रणाली चरमरा गई है। देश में पिछले 24 घंटे में रिकॉर्ड 3.53 लाख नए कोरोना मरीज मिले हैं और 2812 से ज्यादा लोगों की संक्रमण से जान चली गई। यह दुनिया के किसी भी देश में एक दिन में मिले नए कोरोना मरीज और कोविड से होने वाली मौतों की सबसे अधिक संख्या है। 

यह भी पढ़ें : यूपी पंचायत चुनाव : तीसरे चरण के लिए मतदान जारी 

देश में कोरोना मरीजों की संख्या लगातार बढ़ने के चलते सर्वाधिक प्रभावित राज्यों में बेड, वेंटिलेटर, रेमडेसिविर और ऑक्सीजन की किल्लत जारी है। वहीं श्मशान घाटों पर शवों के अंतिम संस्कार के लिए कई घंटों का इंतजार करना पड़ रहा है। कई जगह श्मशान घाट पर जगह नहीं होने के चलते पार्कों में शवों का अंतिम संस्कार किया जा रहा है। 

इसको देखते हुए उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में एक हफ्ते का कोरोना कर्फ्यू लगा देने की अफवाह फैली। हालांकि जनपद के डीएम रविंद्र कुमार ने लॉकडाउन वाली बात खारिज कर दिया है।

डीएम रविंद्र कुमार ने रविवार को बताया कि बुलंदशहर में केवल नाइट कर्फ्यू और वीकेंड लॉकडाउन जारी रहेगा। एक हफ्ते का कोई लॉकडाउन जनपद में नहीं लगाया गया है। डीएम ने बताया कि उन्हें कतिपय सूत्रों से पता चला है कि जनपद में एक हफ्ते के लॉकडाउन होने की बातें कही जहा रही हैं। डीएम ने एक हफ्ते के लॉकडाउन की खबर को महज एक अफवाह बताया है। इसे नजर अंदाज किया जाए।

यह भी पढ़ें : यूपी: मुख्यमंत्री का निर्देश, साढ़े 14 करोड़ गरीबों को दिया जाएगा मुफ्त राशन 

आपको बता दें कि यह अफवाह फैली थी कि अब 26 अप्रैल से 2 मई तक बुलंदशहर में कोरोना कर्फ्यू लागू रहेगा। इस दौरान सिर्फ आवश्यक सेवाएं, पंचायत चुनाव की गतिविधियां सुचारू रूप से चलती रहेंगी और सरकारी दफ्तर खुले रहेंगे लेकिन आमजन की आवाजाही प्रतिबंधित रहेगी।

Follow Us