यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना की प्रभावी रोकथाम के लिए निर्देश दिया कि किसी भी सार्वजनिक स्थान पर भीड़ न होने दी जाए और मास्क न पहनने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाए। उन्होंने रविवार को टीम-11 के अफसरों को अस्पतालों में ऑक्सीजन की आपूर्ति तत्काल सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।

यह भी पढ़ें : यूपी न्यूज: जौनपुर, बलिया, गाजीपुर और प्रतापगढ़ में बनेगी बीएसएल टू लैब 

उन्होंने कहा कि मास्क के अनिवार्य उपयोग के लिए प्रभावी प्रवर्तन कार्रवाई भी की जानी चाहिए। बिना मास्क सार्वजनिक स्थानों पर आवागमन करने वाले लोगों का यह कृत्य स्वयं के साथ-साथ समाज के लिए भी घातक है। ऐसे लोगों के साथ सख्ती की जाए। ऐसे लापरवाह लोगों के बारे में समाज को अवगत कराया जाना चाहिए। पहली बार पकड़े जाने पर 1,000 रुपये और दूसरी बार बिना मास्क पकड़े जाने पर 10,000 रुपये का जुर्माना लिया जाए।

यह भी पढ़ें : यूपी : डंपर और कार के बीच हुआ भीषण सड़क हादसा, चार की गई जान 

कोरोना वायरस संक्रमण की सेकेंड स्ट्रीम के बेहद घातक होने के कारण उत्तर प्रदेश में अब हर रविवार को सम्पूर्ण लॉकडाउन के दौरान आज प्रदेश के शहरी के साथ ग्रामीण क्षेत्रों में भी सन्नाटा पसरा है। सड़कों पर बेवजह निकलने वालों के साथ पुलिस सख्ती कर रही है। इस दौरान बैरिकेटिंग कर चेकिंग अभियान भी चलाया जा रहा है। बेवजह सड़कों सड़कों पर निकले लोगों की चेकिंग हो रही है। मास्क न लगाने पर लोगों के खिलाफ पुलिस जुर्माना वसूलने की भी कार्रवाई कर रही है।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि कुछ स्थानों पर ऑक्सीजन सिलेंडर की कमी की सूचना प्राप्त हुई है। इस संबंध में तत्काल कार्रवाई की जाए। सिलेंडर क्रय करने की प्रक्रिया में कतई देरी न हो। भारत सरकार से भी इस संबंध में सहयोग प्राप्त किया जा सकता है। चिकित्सा शिक्षा मंत्री ऑक्सीजन की आपूर्ति और वितरण के कार्यों की सतत मॉनिटरिंग करेंगे।

Follow Us