एक कप्तान जिसने टीम की कमान को संभाला तब, जब परिस्थितियां काफी मुश्किल थीं। हालांकि चैंपियन
बनने के लिए गांगुली काफी मुश्किल दौर से भी गुजरे हैं। ये वो कप्तान थे जिन्होंने वीरेंद्र सहवाग, युवराज
सिंह, जहीर ख़ान, महेंद्र सिंह धोनी जैसे क्रिकेट के सितारों को संवारा है। दादा के नाम से मशहूर सौरव
गांगुली का जन्मदिन है, और इस मौके पर जानते हैं उनका फेमस किस्सा।

सौरव ने अपनी ऑटोबायोग्राफी "A Century is Not Enough' में उन्होंने लिखा था कि साल 2002 के
नेटवेस्ट सीरीज के फाइनल मैच में जीत को लेकर सभी काफी उत्साहित थे। इस उत्साह को मैं रोक नहीं
पाया और टी शर्ट उतार कर लहराने लगा। हालांकि इस बात का अफसोस मुझे आज भी है।
दरअसल हुआ ये कि वो एंड्र्यू फ्लिंटॉफ को जवाब देना चाहते थे। साल 2002 में जब इंग्लैंड की टीम जब
भारत आई थी।

तब एंड्र्यू फ्लिंटॉफ ने सीरीज जीतने की खुशी में मुंबई के वानखेड़े मैदान में टी-शर्ट उतार के पूरे मैदान के
चक्कर लगाए थे तो मैंने भी फाइनल जीतने की खुशी में लॉर्ड्स की बालकनी में टी शर्ट उतार के खुशी
जाहिर की हालांकि खुशी जाहिर करने के और भी तरीके हो सकते थे। मैं आज भी इस घटना को लेकर
अफसोस करता हूं।

 

Follow Us