The india rise Donald Trump


 

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनॉल्ड ट्रंप को भेजे गए एक संदिग्ध पैकेट में जहर मिलने की पुष्टि की गई है। अमेरिकी जांच एजेंसियों के मुताबिक कुछ दिनों से व्हाइट हाउस और कुछ डिपार्टमेंट को रिसिन नामक खतरनाक लिफाफे भेजे गए हैं। व्हाइट हाउस के एक अफसर ने कहा कि जांच एजेंसियां यह पता लगाने की कोशिश कर रही हैं कि इसके अलावा दूसरे खतरनाक कैमिकल भी व्हाइट हाउस या अन्य डिपार्टमेंट्स में भेजे गए हैं। वहीं कुछ अधिकारियों का कहना है कि साजिश को अंजाम देने के लिए लोकल पोस्टल सिस्टम का इस्तेमाल किया गया है।

 

 

 

 

खतरनाक है रिसिन

जांच कर रहे अधिकारियों ने बताया कि रिसिन बहुत ही घातक तत्व होता है। जिसे कास्ट बीन्स से निकाला जाता है। इसका इस्तेमाल आंतरिक हमलों में किया जा चुका है। इसका उपयोग पाउडर, धुंध, गोली या एसिड के रूप में किया जाता है। यदि किसी के शरीर में यह आंतरिक रक्तस्राव का कारण भी बनता है। जिसके कारण व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है। 

 

 

 

पहले भी भेजे जा चुके हैं पैकिट

जांच एजेंसियों के कुछ सुराग के मुताबिक 2018 में रक्षा मंत्री जिम मैटिस को भी इसी तरह के लिफाफे भेजे गए थे। इसके अलावा कुछ अन्य अफसरों को भी एलीन ने लिफाफे भेजे थे। इसके साथ ही 2013 में मिसीसिपी के एक व्यक्ति ने तब के रहे  राष्ट्रपति बराक ओबामा और एक रिपब्लिकन सीनेटर को रिसिन वाले लिफाफे भेजे थे। बाद में शेनन रिचर्डसन नाम की एक महिला को 18 साल की सजा हुई थी।

 

 

सुरक्षा के मुख्य प्रवक्ता का बयान 

सुरक्षा के मुख्य प्रवक्ता मैरी-लिंज पावर ने कहा कि “हम पैकेट के संबंध में अवगत हैं। कनाडाई कानून प्रवर्तन एजेंसी अमेरिकी समकक्षों के साथ मिलकर काम कर रही है। फिलहाल जांच जारी है, कोई टिप्पणी नहीं कर सकते”

Follow Us