देशभर में कोरोना का कहर थमने  का नाम नहीं ले रहा है। वहीं एक शोध में यह पाया गया है कि एक्सरसाइज यानी व्यायाम के दौरान मास्क पहनने से कोरोना संक्रमण का खतरा कम हो सकता है, यानी स्वस्थ लोगों के लिए ऐसा करना सुरक्षित हो सकता है। इस अध्ययन से पता चलता है कि इनडोर जिम जाने वाले लोग अगर मास्क पहन कर रहें, तो कोरोना के संक्रमण का खतरा कम हो सकता है। 

मास्क पहनने से कोरोना को फैलने से रोकने में मदद मिल सकती है, लेकिन शोधकर्ताओं के इस बात के कोई स्पष्ट प्रमाण नहीं थे कि खूब पसीना बहाने वाले व्यायाम के दौरान मास्क पहनना सुरक्षित है या नहीं। इस सवाल का जवाब जानने के लिए शोधकर्ताओं ने औसतन 40 साल की उम्र वाले स्वस्थ व्यक्तियों के एक समूह पर अध्ययन किया।

अध्ययन में शामिल`प्रत्येक व्यक्ति ने व्यायाम परीक्षणों के तीन दौरों में भाग लिया था, पहली बार सर्जिकल मास्क पहन कर, दूसरी बार मास्क नहीं पहन कर और तीसरी बार एफएफपी2 मास्क पहन कर। माना जाता है कि एफएफपी2 मास्क सर्जिकल मास्क की तुलना में थोड़ा बेहतर सुरक्षा प्रदान करता है।

शोधकर्ताओं ने मास्क पहनने और मास्क न पहनने, दोनों ही स्थितियों में कुछ अंतर पाया। हालांकि उनका कहना है कि उनका कोई भी परिणाम स्वास्थ्य के लिए कोई जोखिम नहीं दर्शाता है। अध्ययन में शामिल इटली के मोनजिनो कार्डियोलॉजी सेंटर की शोधकर्ता एलिसबेटा साल्विओनी ने कहा, ‘हम जानते हैं कि कोरोना वायरस का प्रसार मुख्य रूप से सांस में मौजूद तरल कणों से होता है। यह संभव है कि इनडोर जिम में व्यायाम के दौरान तेज चलने वाली सांसों से संक्रमण फैल सकता है।’    

इस अध्ययन को यूरोपियन रेस्पिरेटरी नामक पत्रिका में प्रकाशित किया गया है। शोध के मुताबिक, अध्ययन के लिए शोधकर्ताओं ने लोगों के एक छोटे समूह में श्वास, हृदय गतिविधि और व्यायाम प्रदर्शन को लेकर विस्तृत परीक्षण किया। इसमें उन लोगों को शामिल किया गया था, जो मास्क के साथ और बिना मास्क के व्यायाम कर रहे थे। इस अध्ययन में इटली की मिलान यूनिवर्सिटी और मोनजिनो कार्डियोलॉजी सेंटर के शोधकर्ता शामिल थे। 

Follow Us