कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी लहर के बेहद घातक होने के कारण लखनऊ में सभी अस्पताल के बेड फुल होने के साथ ऑक्सीजन खत्म होने की सूचना पर देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह बेहद एक्टिव हो गए हैं।

राजनाथ सिंह के लखनऊ में सेना के 250 और 300 बेड के कोविड अस्पताल बनाने के निर्देश पर अमल शुरू करने वाली डीआरडीओ की टीम ने लखनऊ में सोमवार को ऑक्सीजन की बड़ी खेप भेजी है।बता दें कि लखनऊ के अस्पतालों में मरीजों को भर्ती करने के लिए बेड नहीं मिल रहे हैं और ऑक्सीजन के सिलेंडर की जमकर कालाबाजारी हो रही है।

यह भी पढ़ें : यूपी पंचायत चुनाव : शुरू हुई वोटिंग, नहीं है लोगों में कोरोना का डर  

दरअसल, राजधानी के औद्योगिक क्षेत्र स्थित ऑक्सीजन बाटलिंग यूनिट में लिक्विड ऑक्सीजन का बड़ा संकट उत्पन्न हो गया है। यही वजह है कि कॉमर्शियल उपयोग पर प्रतिबंध लगने के बाद भी कोरोना मरीजों को जीवन देने वाला ऑक्सीजन गैस का सिलेंडर नहीं भर पा रहा है। राजनाथ सिंह ने पांच हजार लीटर के जम्बो सिलेंडर लखनऊ भेजे हैं। इनको राज्य सरकार को सौंपा गया है और डीआरडीओ की मदद से इनकी आपूर्ति की जाएगी। डीआरडीओ इससे लखनऊ के अस्पतालों में ऑक्सीजन की आपूॢत करेगी।  

इंडियन इंडस्ट्रीज एसोसिएशन लखनऊ डिवीजन के चेयरमैन सूर्य प्रकाश हवेलिया ने बताया कि राजधानी के छह बॉटलिंग यूनिट को छत्तीसगढ़, राउरकेला, मोदीनगर, काशीपुर आदि से लिक्विड ऑक्सीजन टैंकर के जरिए सप्लाई होता है। मगर, कुछ दिनों से इसकी सप्लाई में कमी हो गई है। इसके चलते उद्यमी गैस सिलेंडर नहीं भर पा रहे हैं।

Follow Us