निर्माण के रास्ते में एक बड़ी बाधा पार ,रैपिड रेल के लिए मिली जमीन

Please log in or register to like posts.
News

दिल्ली से मेरठ तक चलने वाली रैपिड रेल के लिए अच्छी खबर है।

एनसीआरटीसी अधिकारियों और एसडीएम सदर संदीप भागिया के बीच हुए करार में तहसील सदर की 4246 वर्ग मीटर जमीन तीन वर्ष के लिए अस्थायी तौर पर रैपिड रेल के लिए मिल गई है।

इस जमीन के मिलने से निर्माण शुरू करने का भी रास्ता लगभग खुल गया है। अब एनसीआरटीसी की नजरें भैंसाली बस अड्डे की सात हजार वर्ग मीटर जमीन पर लगी हैं। इस जमीन को लेने के लिए भी बुधवार को प्रमुख सचिव आवास दीपक कुमार ने निर्देश दिए हैं।

तहसील सदर में रैपिड रेल के भूमिगत स्टेशन की खुदाई शुरू की जानी है। इस जमीन के मिलने के बाद यहां मशीन से शुरू होने वाले कार्य को रफ्तार मिल सकेगी। एनसीआरटीसी दीवाली के बाद बागपत चौराहे से रैपिड का शहर में काम शुरू कराने की तैयारी में है।
बागपत रोड से बेगमपुल तक रैपिड रेल के भूमिगत स्टेशन है। शताब्दीनगर में पिलर तेजी से खड़े करने के साथ रैपिड रेल के लिए शहर में भी कार्य शुरू किया जाना है।
तहसील सदर में जो 12 आवास इसकी जद में आ रहे हैं उनमें से नौ आवासों में लोग रह रहे हैं। उनकी व्यवस्था खुद एनसीआरटीसी करेगा।

जल्द निपटाएं जमीन के मामले: प्रमुख सचिव

प्रमुख सचिव आवास दीपक कुमार ने रैपिड रेल को जल्द जमीन उपलब्ध कराने के निर्देश भी दिए। बुधवार को शाम चार बजे से 40 मिनट तक हुई वीडियो कांफ्रेंसिंग में गाजियाबाद और मेरठ जिले के अधिकारी जुड़े रहे। मेरठ में भैंसाली बस अड्डे की जमीन को लेकर वार्ता की गई। जिसमें एमडीए ने कहा कि हम सर्किल रेट पर रोडवेज को भूमि देने के लिए तैयार हैं। इसके लिए प्रमुख सचिव ने जिलाधिकारी को जल्द भूमि उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं।

वहीं, इसके अलावा अन्य स्थानों पर जहां-जहां भूमि की आवश्यकता है उन्होंने वहां भी भूमि देने के लिए कहा है।

Reactions

0
0
0
0
0
0
Already reacted for this post.

Reactions

Nobody liked ?