रक्षाबंधन तो हर साल आता है लेकिन इस साल थोड़ा खास इसलिए है क्योंकि भाइयों की कलाई पर राखी और बहनों की चेहरे पर मुस्कान देखने के लिए भारतीय पोस्ट के कर्मचारी कोरोना के संक्रमण से बिना डरे अपने ड्यूटी करने के लिए जुटे हैं

 

जहां आज हम अपने आप को सुरक्षित रखने के लिए घर से बाहर पैर रखने का नहीं सोच रहे हैं। वहीं पोस्टमैन इस कोरोना काल में घर-घर जाकर राखियों की डिलीवरी कर रहे हैं। बता दें कि पोस्टमैन डिलीवरी करते समय अपनी सुरक्षा का पूरा ध्यान रख रहे हैं। वहीं मास्क और सैनिटाइजर के उचित प्रयोग करके राखियों को पहुंचाया जा रहा हैं। इसपर  पटियाला की SSPOs आरती वर्मा ने जानकारी देते हुए कहा कि राखियों के साथ मुफ्त मास्क की भी डिलीवरी दी जा रही है। जिससे समाज में भाईचारे के साथ इंसानियत की भावना को भी बल मिले।

india rise

 

बता दें कि आरती वर्मा आए दिनों कोई न कोई कैंपेन करती नजर आती हैं। खासतौर पर उन्होंने कोरोना संकट के समय जागरूकता अभियान भी चलाया था व कई इलाकों में मुफ्त मास्क भी बाटें थे। आरती वर्मा ने कठिन समय में लोगों की सुरक्षा और जरुरतों को ध्यान में रखते हुए सोशल मीडिया और एक अभियान चलाया था उन्होंने भारतीय पोस्टमैन को खासतौर पर सराहना देते हुए कहा कि यह काफी सराहनीय काम है कि इस संकट के समय भी त्यौहार पर भारतीय पोस्ट लोगों के लिए राखियां डिलीवर कर रही हैं आरती वर्मा में  पोस्टमैन और उनके सराहनीय काम को देखते हुए अभियान का नाम “मास्क पाओ जान बचाओ” रखा था।

 

आरती वर्मा ने द इंडिया राइस से खास बातचीत के दौरान बताया कि भारतीय डाक रविवार को बंद रहता है लेकिन देश के इतने बड़े त्यौहार पर बहनों की मुस्कान न फीकी पड़ जाए इसलिए रविवार के दिन भी सभी भारतीय पोस्टमैन ने अपनी ड्यूटी और लोगों के प्रति जिम्मेदारी को देखते हुए राखी डिलीवर करने का सुनिश्चित किया है। सभी पोस्टमैन की सुरक्षा को देखते हुए मुफ्त मास्क और सैनिटाइजर का प्रबंध भी किया गया है। उन्होंने खासतौर पर द इंडिया राइस के साथ बातचीत में लोगों को संदेश देते कहा कि इतने बड़े त्यौहार पर आना-जाना हमेशा से ही हुआ है, लेकिन मौजूदा स्थितियों को देखते हुए सोशल डिस्टेंसिंग का विशेष रूप से ध्यान रहना है, शब्दों को विराम देते हुए उन्होंने द इंडिया राइज के सभी पाठकों को रक्षाबंधन की शुभकामनाएं दी हैं।

Follow Us